आरोपियों पर यूएपीए एक्ट में केस दर्ज, सीएम आज आएंगे, 50 लाख की सहायता

Gehlot's clarification on NCRB data - more than half of the cases of crime against women are false, BJP is provoking '
Share

उदयपुर  (कार्यालय संवाददाता)। उदयपुर में हुई टेलर कन्हैयालाल की हत्या के आरोपियों पर राजस्थान पुलिस ने गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है। इस मामले में ट्रांस बॉर्डर कनेक्शन समेत डिजिटल एविडेंस की भी जांच की जा रही है। साथ ही मामले की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को सौंप दी गई है।  राजस्थान के डीजीपी एमएल लाठर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि उदयपुर में हुई टेलर कन्हैयालाल की हत्या को आतंकी घटना मानते हुए यूएपीए एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। दोनों आरोपियों के दूसरे देशों में भी संपर्क होने की जानकारी सामने आई है। राज्य की पुलिस के मुखिया लाठर ने यह भी बताया कि कन्हैयालाल की हत्या का आरोपी गौस मोहम्मद साल 2014 में पाकिस्तानी के कराची शहर गया था। वह दावते इस्लामी नामक संस्था से जुड़ा था। उन्होंने यह भी बताया कि उत्तर प्रदेश के कानपुर समेत दिल्ली और मुंबई में दावत-ए-इस्लामी के दफ्तर भी हैं।

एसआई और एसएचओ सस्पेंड

कन्हैयालाल को मिल रही धमकियों के मामले में डीजीपी ने कहा, दोनों पक्षों के बीच समझौता करा दिया गया था जबकि पुलिस को कार्रवाई करनी चाहिए थी। इस मामले में स्थानीय थाने के एसआई और एसएचओ को सस्पेंड कर दिया है।

मस्जिद में हुई थी आरोपियों में दोस्ती

भीलवाड़ा जिले के रहने वाले आरोपी मोहम्मद रियाज का उदयपुर के मुस्लिम बाहुल्य इलाके किशनपोल में किराए का घर है। वारदात के दूसरे आरोपी गौस मोहम्मद से रियाज की दोस्ती मस्जिद में नमाज के दौरान हुई थी। गौस राजस्थान के राजसमंद जिले का रहने वाला है।


Share