धमकी के मामले में भुजबल के खिलाफ केस दर्ज

Case registered against Bhujbal for intimidation
Share

मुंबई। महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री और एनसीपी नेता छगन भुजबल की मुश्किलें बढ़ गई हैं। भुजबल और अन्य दो लोगों के खिलाफ  चेंबूर पुलिस स्टेशन में केस दर्ज किया गया है। यह केस आईपीसी की धारा 506 (2) और 34 के तहत दर्ज किया गया है। जान से मारने की धमकी के आरोप में एक व्यापारी की शिकायत के आधार पर केस दर्ज किया गया है। चेंबूर के व्यापारी ललित कुमार टेकचंदानी ने छगन भुजबल के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी। उन्होंने आरोप लगाया है कि भुजबल ने उन्हें फोन करके और मैसेज भेजकर जान से मारने की धमकी दी है।
कुछ दिनों पहले छगन भुजबल ने एक कार्यक्रम में देवी सरस्वती और हिंदू धर्म को लेकर कुछ विवादास्पद बयान दिए थे. चेंबूर के व्यापारी ललितकुमार टेकचंदानी के मुताबिक उन्होंने भुजबल के ही विवादास्पद बयान वाले दो वीडियो उनको ही भेजा था और शेयर किया था। इसके बाद व्यापारी को धमकी भरे मैसेज और कॉल आने लगे 
‘दुबई से लोग भेजेंगे, घर में घुस कर गोली मारेंगे’
उनसे कहा गया कि, ‘तुम भुजबल साहेब को मैसेज भेजते हो। तुम्हें यह करना महंगा पड़ेगा। तुम्हारे घर में घुस कर गोली मारेंगे। यह धमकी व्यापारी ललितकुमार टेकचंदानी को वाट्सअप कॉल और मैसेजेस भेजकर दी गई। यह बात ललिल कुमार ने अपनी शिकायत में दर्ज करवाई है।
छगन भुजबल ने कहा था देवी सरस्वती को पूजने की जरूरत क्या?
कुछ दिनों पहले एक कार्यक्रम में छगन भुजबल ने देवी सरस्वती को लेकर एक बयान दिया था। इसके बाद उस बयान पर विवाद हो गया था। भुजबल ने कहा था कि स्कूलों में लोग देवी सरस्वती और मां शारदा का फोटो लगाते हैं। उनकी पूजा क्यों करनी है? देवी सरस्वती ने सिर्फ 3 फीसदी (मतलब ब्राह्मणों से है) लोगों को ज्ञान दिया। हमें तो सावित्री बाई फुले, आंबेडकर, शाहू, कर्मवीर भाऊराव पाटील की तस्वीरों की जरूरत है। हमें तो ज्ञान इन्हीं से मिला है। इन्होंने हमें शिक्षा का हक दिलाया है. जिन्होंने हमें हक दिया, हम तो उन्हीं को पूजेंगे।

Share