लार्ड-कृष्णा के आगे कैरेबियन्स ने घुटने टेके, भारत ने जीती साल की पहली सीरीज, टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज को 44 रनों से हराया, 2-0 की बढ़त

Caribbeans kneel in front of Lord Krishna, India won the first series of the year, Team India beat West Indies by 44 runs, lead 2-0
Share

अहमदाबाद (एजेंसी)। भारत ने पेसर प्रसिद्ध कृष्णा (12/4) और शार्दुल ठाकुर (41/2) के दमदार प्रदर्शन की बदौलत अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में वेस्टइंडीज को 44 रनों से हराकर दूसरा वनडे जीत लिया। इसके साथ ही उसने 3 मैचों की सीरीज में 2-0 की निर्णायक बढ़त बना ली है। मैच में पहले बैटिंग करते हुए भारतीय टीम ने 9 विकेट पर 337 रन बनाए। जवाब में कैरेबियाई टीम अपने ही अंदाज में ‘तू चल में आया’ की तर्ज पर लगातार विकेट गंवाती रही और 46 ओवरों में सभी विकेट खोकर 193 रन बना सकी। ओडियन स्मिथ (20 गेंद, 24 रन, 2 छक्के, एक चौका) ने कुछ देर जरूर भारत को परेशानी में डाला, लेकिन इससे रिजल्ट पर कोई असर नहीं पड़ा।

इससे पहले सूर्यकुमार यादव ने 64 रन की अर्धशतकीय पारी खेली, लेकिन वेस्टइंडीज के गेंदबाजों ने भारत को 9 विकेट पर 237 रन ही बनाने दिए। शीर्ष क्रम के लडख़ड़ाने के बाद मेजबान टीम का स्कोर तीन विकेट पर 43 रन था, लेकिन सूर्यकुमार और उपकप्तान केएल राहुल (49) चौथे विकेट के लिए 91 रन की भागीदारी निभाकर टीम को पटरी पर लाए। सूर्यकुमार ने अपना दूसरा अर्धशतक जमाया, उन्होंने ऐसी पिच पर आक्रामकता के साथ धैर्य भरी पारी खेली जिस पर बल्लेबाजी करना आसान नहीं था। इस दौरान उन्होंने 83 गेंद का सामना किया और पांच चौके जमाए।

वेस्टइंडीज ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला किया जिसके बाद भारत ने कप्तान रोहित शर्मा (05) का विकेट सस्ते में गंवा दिया जब उन्होंने तेज गेंदबाज केमार रोच (42 रन देकर एक विकेट) की बाहर जाती गेंद पर शॉट लगाने के प्रयास में बल्ला छुआ दिया और विकेट के पीछे शाई होप ने इसे लपकने में देर नहीं की। भारत में अपना 100वां वनडे खेल रहे विराट कोहली (18) फिर ऋषभ पंत (18) के साथ थे। पंत को 50 ओवर के प्रारूप में पहली बार पारी का आगाज कराया गया।

कोहली ने पहली बाउंड्री पांचवें ओवर में रोच की गेंद पर खूबसूरत कवर ड्राइव से लगायी और फिर इसी गेंदबाज पर स्क्वेयर कट से दूसरा चौका जड़ा। रोच और अल्जारी जोसफ (36 रन देकर दो विकेट) ने कसी गेंदबाजी की जिससे भारतीय टीम पहले सात ओवर में केवल दो ही चौके लगा सकी और उसका स्कोर एक विकेट पर 22 रन था। पंत ने अपनी पहली बाउंड्री अपने ‘ट्रेडमार्क’ पुल शॉट से डीप मिड विकेट के ऊपर से लगायी और फिर दो और चौके जमाए। लेकिन तेज गेंदबाज ओडियन स्मिथ (29 रन देकर दो विकेट) ने 12वें ओवर में पंत और कोहली दोनों के विकेट झटककर मेजबानों को दोहरे झटके दिए जिससे भारत का स्कोर तीन विकेट पर 43 रन हो गया।

स्मिथ ने पहले पंत को आउट किया जो गेंद को टाइम नहीं कर सके और जेसन होल्डर को आसान सा कैच दे बैठे। फिर उन्होंने जमे हुए कोहली को बल्ला छुआने के लिए मजबूर कर विकेटकीपर होप के हाथों आउट कराया। सूर्यकुमार पहले आक्रामक दिख रहे थे जिन्होंने पहला चौका ड्राइव से लगाया, फिर राहुल ने भी हाथ खोलने शुरू किए और पुल शॉट से बाएं हाथ के स्पिनर अकील हुसैन (39 रन देकर एक विकेट) पर बड़ा छक्का लगाया। दोनों ने स्कोरबोर्ड चलायमान रखा जिससे 25 ओवर के बाद भारतीय टीम तीन विकेट पर 91 रन बना चुकी थी।

राहुल बड़े स्कोर की ओर बढ़ते दिख रहे थे, पर 30वें ओवर में रन आउट हो गए। उन्होंने 48 गेंद की पारी में चार चौके और दो छक्के जमाए। सूर्यकुमार को वाशिंगटन सुंदर (24) का अच्छा साथ मिला जिससे इन दोनों ने पांचवें विकेट के लिए 43 रन जोड़े। पर सूर्यकुमार 39वें ओवर में फैबियन एलेन (50 रन देकर एक विकेट) की गेंद पर जोसफ को आसान कैच दे बैठे। सुंदर भी अच्छी शुरूआत को बड़े स्कोर में नहीं बदल सके। फिर दीपक हुड्डा की 25 गेंद में 29 रन की पारी ने भारत को 225 रन का स्कोर पार करने में मदद की। मेजबान टीम अंतिम 10 ओवर में केवल 54 रन ही जोड़ सकी।

भारत की शानदार गेंदबाजी के अलावा वेस्टइंडीज को खराब शॉट चयन का खामियाजा भुगत कर श्रृंखला गंवानी पड़ी। सिराज ने नयी गेंद से शुरूआत की और पहले ओवर में पांच रन दिए। दूसरे छोर पर शार्दुल ठाकुर ने नयी गेंद से मेडन डालकर शुरूआत की। सिराज का दूसरा ओवर मेडन रहा। ब्रैंडन किंग (18 रन) ने उनके तीसरे ओवर की अंतिम गेंद में उनके सिर के ऊपर शानदार छक्का जड़ा। सलामी बल्लेबाज शाई होप (27) ने छठे ओवर में ठाकुर पर चौका लगाया जिसके बाद किंग ने लगातार गेंदों पर दो चौके जमाए जिससे इस ओवर में 13 रन जुड़े। वेस्टइंडीज ने इस तरह सात ओवर में 31 रन बनाकर अच्छी शुरूआत की। लंबे कद के गेंदबाज कृष्णा ने आते ही कमाल कर दिया और लगातार अपने पहले और दूसरे ओवर में दो विकेट झटक लिए। कृष्णा ने अतिरिक्त उछाल का पूरा फायदा उठाया और आठवें ओवर में किंग को विकेटकीपर पंत के हाथों कैच आउट कराया। वेस्टइंडीज ने पहला विकेट 32 रन पर गंवाया। फिर 10वें ओवर में वेस्टइंडीज के सीनियर खिलाड़ी डेरेन ब्रावो ने कृष्णा की गेंद पर बल्ला छुआया और यह विकेटकीपर के हाथों में समां गयी। लेकिन अंपायर ने नॉट आउट दिया। भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने रिव्यू लिया और अंपायर को अपना फैसला बदलना पड़ा। इस तरह भारत को दूसरा विकेट मिला।

कृष्णा ने दो ओवर में दो रन देकर दो विकेट झटक लिए। भारत ने 11वें ओवर में स्पिनर चहल को उतारा जिन्होंने महज दो रन दिए। वेस्टइंडीज के बल्लेबाज अब थोड़े रक्षात्मक होकर खेल रहे थे और उन्हें तीसरा झटका भी जल्द ही लगा जब चहल ने सलामी बल्लेबाज होप को आउट कर दिया। अब कार्यवाहक कप्तान पूरन क्रीज पर थे, पर वह भी देर तक नहीं टिक सके और कृष्णा का तीसरा शिकार बने और वेस्टइंडीज का स्कोर हो गया चार विकेट पर 66 रन। वेस्टइंडीज की टीम 10 रन ही जोड़ पायी थी कि ठाकुर ने जेसन होल्डर को आउट कर दिया।

ब्रूक्स अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे और हुसैन के साथ अच्छी साझेदारी की ओर बढ़ रहे थे, भारत पर दबाव बढ़ रहा था और उसे विकेट की तलाश थी। दीपक हुड्डा ने इस दबाव को कम करते हुए अपने पहले ही ओवर में ब्रूक्स (64 गेंद में दो चौके और दो छक्के) को आउट कर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना पहला विकेट झटका। वेस्टइंडीज का स्कोर 31वें ओवर में छह विकेट पर 117 रन था। हुसैन को इसके बाद फैबियन एलेन (13) का अच्छा साथ मिला। दोनों अच्छी साझेदारी कर भारत पर दबाव बनाने में लगे थे। पर सिराज ने एलेन को आउट कर इस 42 रन की भागीदारी को तोड़ दिया। हुसैन भी अगले ओवर में ठाकुर का दूसरा शिकार बने और वेस्टइंडीज ने आठवां विकेट गंवाया।

वेस्टइंडीज के नियमित कप्तान कीरोन पोलार्ड चोट के कारण नहीं खेले। उनकी जगह ओडियन स्मिथ को टीम में शामिल किया गया, जिन्होंने पहले गेंदबाजी करते हुए दो विकेट चटकाए थे और फिर बल्लेबाजी करते हुए अंत में ठाकुर की गेंद पर दो गगनचुंबी छक्के जड़ दिए। स्मिथ खतरनाक दिख रहे थे, पर सुंदर की गेंद पर कोहली ने शानदार कैच लपककर उनकी 24 रन की पारी समाप्त की जिसमें 20 गेंद में दो छक्के और एक चौका शामिल रहा। कृष्णा ने फिर केमार रोच को आउट कर वेस्टइंडीज की पारी समाप्त की जो उनका चौथा विकेट था।


Share