खुद को 24 कैरेट कांग्रेसी बता बोले आजाद- 18 कैरेट वाले दे रहे हैं चुनौती

Calling himself a 24-carat Congressman, Azad said - 18-carat people are challenging
Share

जम्मू (एजेंसी)। कांग्रेस के सीनियर नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद ने रविवार को पार्टी छोडऩे की सभी अटकलों पर विराम लगा दिया। गुलाम नबी आजाद ने कहा कि वे 24 कैरेट कांग्रेसी हैं। कांग्रेस से नाराजगी पर आजाद ने कहा कि ऐसा बिल्कुल नहीं है, वे पार्टी के कार्यकर्ताओं को एकजुट करने के लिए काम कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने पार्टी में सुधार पर भी बात की है।

गुलाम नबी आजाद लगभग पिछले लगभग दो महीने से जम्मू-कश्मीर में जनसभाएं कर रहे हैं और उनके साथ कई सहयोगी भी हैं। जम्मू के बाहरी इलाके खुर के सीमावर्ती इलाके में एक जनसभा को संबोधित करने के बाद मीडिया से बात करते हुए आजाद ने कहा कि सुधार एक गतिशील प्रक्रिया है और लोगों के लाभ के लिए यह हर पार्टी, समाज और पूरे देश के लिए जरूरी है।

आजाद ने पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की तरह ही कांग्रेस पार्टी छोडऩे की अटकलों के बारे में पूछे गए सवालों के जवाब में कहा मैं कांग्रेसी हूं। आपसे किसने कहा कि मैं कांग्रेसी नहीं हूं? मैं 24 कैरेट कांग्रेस हूं। अगर 18 कैरेट 24 कैरेट को चुनौती दे रहा है तो क्या फर्क पड़ता है?

पिछले साल पार्टी में संगठनात्मक बदलाव की मांग करने वाले 23 कांग्रेसी नेताओं में शामिल आजाद ने कहा कि वह पार्टी से नाराज नहीं हैं। उन्होंने कहा, विभाजन करने वाले दलों को केवल विभाजन दिखाई देता है। हम ही लोगों को जोड़ रहे हैं। हम एकता (पार्टी रैंकों में) बना रहे हैं क्योंकि हम एकजुट करने के लिए हैं।

संगठन में सुधारों के उनके जोर के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हर पार्टी, हर समाज और देश में सुधारों की जरूरत है। उन्होंने कहा, सुधार एक सतत प्रक्रिया है और हर पार्टी के लिए जरूरी है। विधायिका भी एक तरह का सुधार है। अतीत की कई बुराइयां आज समाज में सुधारों के कारण नहीं हैं।

श्रीनगर के एक सैन्य अधिकारी द्वारा उजागर किए गए ‘सफेद रंग का आतंकवादÓ पर अपने विचारों के बारे में उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं पता कि उनका इससे क्या मतलब है। उन्होंने कहा, मैं पहले ही कह चुका हूं कि राजनेताओं को लोगों के कल्याण के लिए सही काम करना चाहिए था लेकिन कभी-कभी उन्होंने लोगों को बांटकर शैतान का काम किया। हमें इससे बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि बढ़ती महंगाई और बढ़ती बेरोजगारी के कारण जम्मू-कश्मीर के लोग भाजपा से नाराज हैं।


Share