बुमराह की चोट गंभीर, अक्टूबर में टी-20 वर्ल्ड कप तक फिट होना मुश्किल, पिछले 2 वर्षों में चोट की वजह से 61% मैचों में नहीं खेले

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली का बड़ा बयान, वर्ल्ड कप टीम के साथ ऑस्ट्रेलिया जाएंगे बुमराह, अभी उन्हें बाहर नहीं किया गया
Share

मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। एशिया कप में चोट की वजह से टीम इंडिया में शामिल नहीं किए तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की चोट गंभीर है। उनका टी-20 वल्र्ड कप तक फिट होना मुश्किल है। ऐसे में टी-20 वल्र्ड कप में उनके खेलने को लेकर संशय है। टी-20 वल्र्ड को शुरू होने में हालांकि, 2 महीना का समय है। इस बार टी-20 वल्र्ड अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया में होना है। वहीं बुमराह की चोट को लेकर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की ओर से अभी अधिकारिक रूप से कोई कुछ नहीं कहा गया है। बुमराह को बीसीसीआई की ओर से रिहैब के लिए बेंगलुरू में स्थित नेशनल क्रिकेट एकेडमी में जाने के लिए कहा गया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बुमराह को लगी चोट गंभीर है। उनके फिट होने में ज्यादा समय लग सकता है। उनकी चोट को लेकरबीसीसीआई भी नजर रखे हुए है।

बुमराह पहले भी चोट की वजह से रहें है क्रिकेट से दूर

जसप्रीत बुमराह पहले भी चोट की वजह से क्रिकेट से दूर रह चुके हैं। 2019 में वल्र्ड कप के बाद पीठ में चोट लगी थी। उनकी पीठ के निचले हिस्से में स्ट्रेस फ्रेक्चर था। इसके बाद वे लंबे समय तक टीम से बाहर रहे थे। वापसी के काफी समय बाद भी वे पूरी तरह रंग में नहीं आ पाए थे। बुमराह के चोटिल होने की सबसे बड़ी वजह उनका अनोखा बॉलिंग एक्शन है। जिस तरह से वे बॉल डालते हैं, उससे उनकी पीठ पर काफी जोर पड़ता है।

एशिया कप में बुमराह और हर्षल पटेल चोट की वजह से हैं बाहर

एशिया कप में बुमराह और हर्षल पटेल चोट की वजह से एशिया कप से बाहर हैं। ऐसे में यूएई में होने वाली टूर्नामेंट के लिए भारतीय टीम में 3 तेज गेंदबाजों भुवनेश्वर कुमार, अर्शदीप सिंह और आवेश खान हैं।

टी-20 के शुरू होने के बाद खिलाडिय़ों में चोटिल होने के मामले में हुई है बढ़ोतरी

टी-20 के ज्यादा मैच होने से खिलाडिय़ों के चोटिल होने के मामले में बढ़ोतरी हुई है। एक स्टडी के मुताबिक टी-20 आने के बाद से खिलाडिय़ों की चोट में 10% तक बढ़ोतरी हुई है। सबसे ज्यादा खामियाजा तेज गेंदबाजों को भुगतना पड़ा, जिनमें चोट के मामले 18% तक बढ़ गए हैं। फिलहाल, इंटरनेशनल क्रिकेट से जुड़े 28 खिलाड़ी चोट के कारण मैदान से बाहर हैं। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की स्टडी के मुताबिक, तेज गेंदबाजों में चोट के मामले अन्य खिलाडिय़ों से 2.5 गुना से 6 गुना तक ज्यादा हैं। पूर्व पाक तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने कहा था कि घुटने की चोट के कारण उनका करियर जल्दी खत्म हो गया।


Share