2027 में पूरा होगा बुलेट ट्रेन का सपना, सूरत-बिलिमोरा रूट पर 2026 से ट्रायल रन

Bullet train dream will be fulfilled in 2027, trial run on Surat-Blimora route from 2026
Share

अहमदाबाद (एजेंसी)। भारत में बुलेट ट्रेन का इंतजार खत्म हो गया है। साल 2027 से भारत में बुलेट ट्रेन दौड़ती नजर आएगी। अगले साल 2023 में सूरत में पहला बुलेट ट्रेन स्टेशन का उद्घाटन किया जाएगा। नेशनल हाई स्पीड रेल कॉरिडोर (एनएचएसआरसीएल) के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर सतीश अग्निहोत्री ने कहा है कि सूरत और बिलिमोरा के बीच 2026 में बुलेट ट्रेन का ट्रायल रन शुरू होगा और 2027 से लोगों के लिए बुलेट ट्रेन सर्विस शुरू हो जाएगी। सूरत से बिलिमोरा की दूरी 50 किलोमीटर है जिस पर सबसे पहले बुलेट ट्रेन चलेगी। एनएचएसआरसीएल अधिकारियों के मुताबिक 2024 तक बापी, बिलिमोरा, सूरत और भरूच के बीच बुलेट ट्रेन के 12 स्टेशन बनकर तैयार हो जाएंगे।

अधिकारियों के मुताबिक इन चार स्टेशनों के अलावा 237 किलोमीटर के ट्रैक को तैयार किया जा रहा है जिसके लिए अलग तरह के पुल और सपोर्टिंग कॉलम बनाए जा रहे हैं। जापान के राजनेयिक सातोशी सुजुकी के मुताबिक हमारी प्राथमिकता इस रूट को पूरा कर बुलेट ट्रेन को शुरू करना है। इसकी मेंटेनेंस और अपडेटेड टेकनोलॉजी देने का वादा जापान ने किया है। हम भारत को जापान से बेहतर हमारी लेटेस्ट टेकनोलॉजी ईएस शिनकनसेन देंगे। जलवायू और प्रदूषण को ध्यान में रखते हुए हम भारत को अपनी टेकनोलॉजी का एडवांस वर्जन देंगे।

अधिकारियों के मुताबिक बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट को लेकर 125 किलोमीटर लंबे पाइल्स, पाइल्स कैप, ओपन फाउंडेशन, वेल फाउंडेशन, पाइर्स, पाइर्स कैप को बनाने का काम चल रहा है। सूरत डिपो में 128 फाउंडेशन में से 118 फाउंडेशन बना लिया गया है। इसके अलावा इस साल अगस्त तक साबरमती इंटीग्रेटेड हाई स्पीड रेल, मेट्रो, बस रेपिड ट्रांसिज, पैसेंजर टर्मिनल हब और दो रेलवे स्टेशन बनकर तैयार हो जाएंगे।

पहली बुलेट ट्रेन के कुछ डिब्बे जहाज के जरिए लाए जाएंगे वहीं कुछ डिब्बों को यहीं भारत में जोड़कर बनाया जाएगा। सतीश अग्निहोत्री के मुताबिक ये टेकनोलॉजी क्रैश एवॉइडेंस सिस्टम पर आधारित होगी जिसमें लेटेस्ट सिग्नल होंगे। कोच के डिजाइन को ऐसा रखा जाएगा जिससे ये ट्रेन एक्सिडेंट फ्री हो।

बुलेट ट्रेन 320 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकेगी। अहमदाबाद-मुंबई के बीच बुलेट ट्रेन का परिचालन होगा। 508 किलोमीटर लंबी इस लाइन पर 12 स्टेशन होंगे जिनमें से 8 गुजरात और 4 स्टेशन महाराष्ट्र में होंगे।


Share