बजट 2021 में शराब पर कर का प्रस्ताव रखा, petrol & diesel की कीमतें अपरिवर्तित

बजट 2021 में शराब पर कर का प्रस्ताव रखा
Share

बजट 2021 में शराब पर कर का प्रस्ताव रखा, petrol & diesel की कीमतें अपरिवर्तित – वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने एआईडीसी योजना या कृषि बुनियादी ढांचे और विकास सेस योजना के तहत मादक पेय पर 100 कृषि इन्फ्रा उपकर प्रस्तावित किया है। यह कृषि इन्फ्रा सेस सभी मादक उत्पादों ब्रांडी, शराब, व्हिस्की, स्कॉच, बोरबन इत्यादि पर लागू होगा । यह 100 प्रतिशत कृषि इन्फ्रा सेस 2 फरवरी 2021 से लागू होगा हालांकि बजट प्रस्तावों को 1 अप्रैल 2021 से लागू किया जाना चाहिए।

पेट्रोल, डीजल, शराब की कीमतें अपरिवर्तित बनी रहेगी

फाइनेंस मंत्री निर्मला सीतारमन के केंद्रीय बजट 2021 ने 2.5 रुपये प्रति कृषि बुनियादी ढांचे और विकास सेस का प्रस्ताव दिया हालांकि, पेट्रोल और डीजल के लिए कीमतें बदल नहीं जाएंगी क्योंकि अन्य कर्तव्यों में कमी हो गई है।

कृषि उपकर भी अल्कोहल पर 100% सेस, सोने और चांदी के सलाखों पर 2.5%, कच्चे पाम तेल पर 17.5%, कच्चे सोयाबीन, सूरजमुखी के तेल, सेब पर 35% और मटर पर 40% पर 20% सहित कई अन्य सामानों पर भी लागू किया गया था। यह 2 फरवरी से लागू होगा।

सीतारमन ने कहा कि इस तरह के उपकर उपभोक्ताओं को प्रभावित नहीं करेंगे। उन्होंने कहा, “पेट्रोल और डीजल पर कृषि बुनियादी ढांचे और विकास सेस (एआईडीसी) को लागू करने के परिणामस्वरूप, बुनियादी उत्पाद शुल्क (बिस्तर) और विशेष अतिरिक्त उत्पाद शुल्क (एसएईडी) दरें कम हो गई हैं ताकि समग्र उपभोक्ता को कोई अतिरिक्त बोझ न हो।”

वित्त मंत्री ने कहा कि इस उपकर को लागू करते समय, हमने उपभोक्ताओं पर अधिकतर सामानों पर अतिरिक्त बोझ नहीं लगाने का ख्याल रखा है।” उदाहरण के लिए 100 प्रतिशत सेस भी अन्य किण्वित पेय पदार्थों पर लगाए जाएंगे, उदाहरण के लिए, साइडर, पेरी, मीड, खातिर, किण्वित पेय पदार्थों का मिश्रण या किण्वित पेय पदार्थ और नॉनलकोहोलिक पेय पदार्थ।

शराब और किण्वित पेय पदार्थों के अलावा, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने 2.5 प्रतिशत की कृषि इन्फ्रा उपकर की घोषणा की।


Share