रूस पर ब्रिटेन का एक्शन , 5 बैंक और 3 नागरिकों पर पाबंदी लगाई

Britain's action on Russia, 5 banks and 3 citizens banned
Share

कीव (एजेंसी)। यूक्रेन-रूस विवाद  अब युद्ध के कगार पर जा पहुंचा है। इसी बीच रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने रूस ने पूर्वी यूक्रेन के दो शहरों लुहान्स्क और डोनेटस्क को आजाद मुल्क घोषित कर दिया है। इसके बाद दुनियाभर की प्रतिक्रियाएं आनी शुरू हो गईं। जहां ब्रिटेन ने बड़ा फैसला लेते हुए रूस के 5 बैंक और हाई नेटवर्थ वाले 3 नागरिकों पर पाबंदी लगा दी है। ब्रिटेन के प्र.म. बोरिस जॉनसन ने कहा कि हमें पुतिन की योजना के अगले संभावित कदमों के लिए खुद को तैयार करना चाहिए। इतना ही नहीं उन्होंने ये भी कहा कि अगर युद्ध होता है तो ब्रिटेन के 44 मिलिनय पुरूष, महिलाओं और बच्चों का लक्ष्य सिर्फ युद्ध लडऩा होगा।

गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी

ब्रिटेन के रक्षा सचिव बेन वालेस ने रूसी सेनाओं के चेतावनी दी है कि अगर रूसी सैनिकों ने प्रतिक्रिया की तो इसके गंभीर परिणाम सामने आएंगे। उन्होंने कहा कि रूस ने यूक्रेन में सेना को स्थानांतरित करना शुरू कर दिया है। वालेस ने इंग्लैंड के लीसेस्टरशायर में मंगलवार को बाल्टिक और उत्तरी अटलांटिक राज्यों के रक्षा मंत्रियों की बैठक में चेतावनी देते हुए कहा कि अगर युद्ध के हालात बने तो रूसी सेनाओं को गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।

रूस ने प्रभावी रूप से दो राज्य अलग किए

हालांकि उन्होंने कहा कि यूक्रेन के डोनबास में सैन्य उपकरणों के जाने की रिपोर्ट को क्रॉस चेक करना होगा। वालेस ने पूर्वी यूक्रेन में दो अलग-अलग क्षेत्रों को मान्यता देने के पुतिन के फैसले का जिक्र करते हुए कहा कि यह एक संप्रभु राज्य है, लेकिन रूस ने प्रभावी रूप से इसे अलग कर लिया है।

जर्मनी ने भी पाइपलाइन परियोजना रोकी : इसी बीच जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज ने कहा कि जर्मनी ने रूस के साथ नॉर्ड स्ट्रीम 2 पाइपलाइन परियोजना को निलंबित कर दिया है।

रूस बोला- सेना भेजने की योजना नहीं : पूर्वी यूक्रेन में दो राज्यों को अलग देश घोषित करने के ऐलान के बाद अब रूस ने कहा कि मास्को पूर्वी रूस में अपनी सेना भेजने के लिए कोई भी योजना नहीं बना रहा है। वहीं  नाटो ने मंगलवार को यूक्रेन के प्रतिनिधि के साथ तत्काल बैठक करने की घोषणा की।


Share