रिश्वतखोर एसडीएम-पटवारी गिरफ्तार

Share

सरकारी सिस्टम में पनप रही कार्मिक दीमकें कोरोना के प्रभाव से बेअसर हैं। एक तरफ आम आदमी आजीविका के लिए कई मुश्किलें झेल रहा है तो दूसरी तरफ कई अधिकारी व उनके मातहत कर्मचारी धड़ल्ले से बेखौफ रिश्वत की गंगा में डुबकी लगा रहे हैं। रोज किसी के ट्रेप होने की खबरें आ रही है मगर त्वरित न्यायिक कार्रवाई नहीं होने, सख्त सजा नहीं मिलने तथा जन मानस की बेरूखी चलते रिश्वतखोरों के हौसले बुलंद हैं। हर बार कोई रिश्वत लेते पकड़ा जाता है, तरीका वहीं होता है सिर्फ पद और चेहरे बदल जाते हैं।

सोमवार को लसाडिय़ा का उपखण्ड अधिकारी सुनील झिंगोनिया माइंस के काम को चालू रखने की एवज में प्रतिमाह 50 हजार रूपए की बंधी लेेते पकड़ा गया। चित्तौडग़ढ़ एसीबी के माध्यम से झिंगोनिया की ट्रेप की कार्यवाही हुई। भनक लगते ही वह फरार हो गया था। उसे जयपुर से गिरफ्तार किया गया। इसी प्रकार भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की स्पेशल टीम ने मंगलवार को सलूम्बर के मातासुला पटवारी को 50 हजार रूपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया। पटवारी राजेन्द्र पुत्र मनोहर सिंह चौहान निवासी करगेटा सलूम्बर ने जमीन रूपान्तरण के नाम पर डेढ़ लाख रूपए रिश्वत मांगी थी। दूसरी किश्त लेते उसे गिरफ्तार किया गया।

एसीबी ने बड़ी कार्यवाही करते हुए जिले के लसाडिय़ा उपखण्ड अधिकारी को एक माईंस मालिक से मासिक बंधी मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपी उपखण्ड अधिकारी को टे्रप होने की भनक लगने पर यह जयपुर भाग गया था, जहां से उसे गिरफ्तार किया गया। आरोपी के खिलाफ चित्तौडग़ढ़ एसीबी में प्रकरण दर्ज किया गया है, जिसे उदयपुर न्यायालय में पेश किया जाएगा। एक माईंस मालिक ने जयपुर एसीबी में शिकायत दर्ज करवाई कि उसकी लसाडिय़ा क्षेत्र में माईंस है और लसाडिय़ा का उपखण्ड अधिकारी सुनील झिंगोनिया द्वारा इस माइंस को बंद करने की धमकियां देकर उसे परेशान कर रहा था। इस माइंस काम को चालू रखने की एवज में प्रतिमाह 50 हजार रूपए की बंधी मांग रहा है। जयपुर ईकाई ने इस शिकायत का चित्तौडग़ढ़ एसीबी के माध्यम से सत्यापन करवाया था। सत्यापन के दौरान उपखण्ड अधिकारी सुनील झिंगोनिया ने एक लाख रूपए की मांग की थी। इस दौरान उपखण्ड अधिकारी सुनील झिंगोनिया को ट्रेप की कार्यवाही की भनक पड़ गई तो वह फरार हो गया था।

इस पर उपखण्ड अधिकारी सुनील झिंगोनिया के खिलाफ केस दर्ज कर जांच जयपुर डीएसपी सचिन शर्मा को सौंपा गई थी। इस पर एसीबी की टीम ने उपखण्ड अधिकारी सुनील झिंगोनिया के जयपुर से गिरफ्तार किया। उपखण्ड अधिकारी सुनील झिंगोनिया की गिरफ्तारी के बाद उसके जयपुर में मुरलीपुरा स्थित निजी आवास और लसाडिय़ा स्थित एसडीएम कार्यालय व आवास और चित्तौडग़ढ़ सहित अन्य ठिकानों पर सर्च कार्रवाई की जा रही है। उपखण्ड अधिकारी सुनील झिंगोनिया को मंगलवार को उदयपुर एसीबी न्यायालय में पेश किया जाएगा।

 


Share