लोकतंत्र पर मंथन- उदयपुर में जुटेंगे सभी राज्यों के विधानसभाध्यक्ष और उपाध्यक्ष

Brainstorming on Democracy - Speakers and Deputy Speakers of all the states will gather in Udaipur
Share

अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों का यह 83वां सम्मेलन होगा, तीन दिवसीय सम्मेलन नवं. में होगा

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान में आगामी नवंबर माह में देश के सभी राज्यों के विधानसभाध्यक्षों और उपाध्यक्षों सम्मलेन होगा। तीन दिन तक चलने वाले इस सम्मलेन के साथ ही विधानसभा सचिवों का भी सम्मेलन होगा। राजस्थान को 11 साल बाद फिर से पीठासीन अधिकारियों और सचिवों के सम्मेलन की मेजबानी मिलने जा रही है। सम्मेलन का उद्घाटन लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला करेंगे। इस आयोजन के लिए विधानसभा की ओर से राज्य सरकार का सहयोग लिया जा रहा है।

बताया जा रहा है कि इस सम्मेलन का आयोजन राजस्थान विधानसभा के परिसर में नहीं बल्कि उदयपुर में किया जाएगा। अभी विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी विदेश दौरे पर हैं। आयोजन की पूरी तस्वीर उनके लौटने के बाद साफ होगी। अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों का यह 83वां सम्मेलन होगा, जबकि सचिवों का 59वां सम्मेलन होगा। पिछली बार यह सम्मेलन शिमला में आयोजित किया गया था।

लोकतंत्र से जुड़े विषयों पर होता है मंथन

पीठासीन अधिकारियों और सचिवों के इन सम्मेलनों में लोकतंत्र को मजबूत करने वाले विभिन्न बिन्दुओं को लेकर चर्चा की जाती है। इनमें लोकतंत्र की बेहतरी के लिए और क्या सुधार किए जा सकते है उन विषयों पर मंथन होता है। लोकतंत्र के मंदिरों यानि विधानसभाओं और संसद में लोकतंत्र मजबूत हो और लोक की अवधारणा मूर्त रूप में हो इसको लेकर सम्मेलन में चर्चा की जाती है।


Share