नेटबंदी पर भाजपा ने कांग्रेस को घेरा, कहा-राजस्थान में एक महीने में 4 बार इंटरनेट बंद, 800 करोड़ का नुकसान

नेटबंदी पर भाजपा ने कांग्रेस को घेरा, कहा-राजस्थान में एक महीने में 4 बार इंटरनेट बंद, 800 करोड़ का नुकसान
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। भारतीय जनता पार्टी ने महत्वपूर्ण परीक्षाओं के दौरान राजस्थान में बार-बार इंटरनेट सेवा बंद करने के लिए गुरूवार को कांग्रेस सरकार को आड़े हाथ लिया और आरोप लगाया कि कानून व व्यवस्था के प्रति अपनी जिम्मेदारी से बचने के लिए उसने इंटरनेट बंद करने का रास्ता चुना है और इसके लिए वह प्रश्न पत्र लीक होने का हवाला देती है। भाजपा प्रवक्ता राज्यवर्धन सिंह राठौर ने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के 2019 के एक ट्वीट का उल्लेख किया और उनपर अभिव्यक्ति की आजादी को लेकर दोहरे मापदंड अपनाने का आरोप लगाया।

राहुल गांधी ने उस ट्वीट में जम्मू एवं कश्मीर में इंटरनेट सेवा बंद करने के लिए केंद्र सरकार की आलोचना की थी।

उन्होंने कहा, जम्मू एवं कश्मीर में तो आतंकी घटनाएं हो रही है…कांग्रेस एक ऐसी पार्टी है जो आतंक के खतरे से ऊपर युवाओं की परीक्षा को खतरा मानती है। इसलिए वह इंटरनेट बंद कर देती है।

उन्होंने कहा कि प्रश्न पत्र लीक होने और चोरी पर लगाम कसने के लिए राजस्थान सरकार ने पिछले एक महीने में चार बार इंटरनेट सेवा बंद की है।

उन्होंने कहा, पिछले 10 सालों में उत्तर प्रदेश में 29 बार इंटरनेट सेवाएं बंद की गई हैं, हरियाणा में 17 बार, पश्चिम बंगाल में 13 बार, गुजरात में 10 बार और बिहार व महाराष्ट्र में 11-11 बार जबकि राजस्थान में इस दौरान 78 बार ऐसा हुआ है।

राठौर ने दावा किया कि इंटरनेट सेवाओं को बंद करने से राजस्थान को 800 करोड़ रूपये का नुकसान हुआ है क्योंकि इससे व्यापार व अन्य सेवाएं भी प्रभावित होती हैं।

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि राजस्थान सरकार के पास कानून व व्यवस्था पर ध्यान देने का समय नहीं है क्योंकि राजस्थान के मंत्रियों को चुनावी काम में लगा दिया गया है।

उन्होंने कहा, राजस्थान के कुछ मंत्री जिन्हें अलग-अलग जिम्मेदारियां दी गई हैं, वह कई दिनों से अपने दफ्तर में नहीं आ रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्री स्वास्थ्य संबंधी अहम बैठकों में हिस्सा नहीं ले रहे हैं। इनकी आंतरिक खींचतान से राजस्थान की जनता को बहुत परेशानियां उठानी पड़ रही है।


Share