जयपुर ग्रेटर में भाजपा को बहुमत, हैरिटेज में निर्दलीय होंगे निर्णायक

जयपुर ग्रेटर में भाजपा को बहुमत, हैरिटेज में निर्दलीय होंगे निर्णायक
Share

जयपुर, (कार्यालय संवाददाता)। जयपुर ग्रेटर नगर निगम में भाजपा ने स्पष्ट बहुमत हासिल कर लिया है, जबकि हैरिटेज नगर निगम में गणित उलझ गया है। यहां कांग्रेस को 47 तो भाजपा के 41 पार्षद जीते, निर्दलीय 11 सीटों पर जीते हैं। ऐसे में हैरिटेज में अब निर्दलीय की भूमिका निर्णायक होगी।

जयपुर ग्रेटर में कांग्रेस 46, भाजपा 80 और निर्दलीय 11 जीते कुछ सीटों पर परिणाम आना बाकी हैं। नगर निगम जयपुर ग्रेटर में कुल 150 वार्ड और हैरिटेज में 100 वार्ड हैं। हैरिटेज में 686 और जयपुर ग्रेटर में 430 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे। निगम चुनावों में सरकार के दो दिग्गजों की प्रतिष्ठा को बड़ा झटका लगा है। जयपुर के झोटवाड़ा विधानसभा क्षेत्र से विधायक व सरकार में कृषिमंत्री लालचंद कटारिया को इन चुनावों में बहुत बड़ी हार मिली है।

वहीं मुख्यमंत्री के करीबी माने जाने वाले मुख्य सचेतक महेश जोशी को भी उन्ही के विधानसभा क्षेत्र हवामहल में भाजपा ने पटखनी दी है। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया नगर निगम ग्रेटर के वार्ड 64 में रहते है, जहां से भाजपा प्रत्याशी हार गए। पूनिया आमेर विधानसभा से विधायक है, जहां भाजपा और कांग्रेस 2-2 सीट जीतकर बराबर रही है। नगर निगम ग्रेटर में सांगानेर, मालवीय नगर, विद्याधर नगर में भाजपा को बढ़त मिली है, जबकि बगरू में कांग्रेस को बढ़त हासिल हुई है। इसी तरह नगर निगम हैरिटेज में सिविल लाईन्स, किशनपोल, आदर्श नगर में कांग्रेस ने बढ़त हासिल की है। जयपुर में दोनों नगर निगम के परिणाम के मुताबिक नगर निगम ग्रेटर में भाजपा को तो स्पष्ट बहुमत मिल गया, लेकिन नगर निगम हैरिटेज में निर्दलीय किंगमेकर की भूमिका में उभर कर सामने आए है। यहां कांग्रेस बहुमत के आकड़े से 4 अंक पीछे रह गई। 26 साल में ये पहला मौका था जब कांग्रेस जयपुर में अपना स्पष्ट बहुमत से बोर्ड बनाती, लेकिन अब उसे हैरिटेज में सरकार चलाने और मेयर-डिप्टी मेयर बनाने के लिए निर्दलीयों का सहारा लेना पड़ेगा।


Share