मेवाड़-वागड़ में भाजपा-कांग्रेस बराबरी पर

मेवाड़-वागड़ में भाजपा-कांग्रेस बराबरी पर
Share

नगर संवाददाता . उदयपुर। नगर पालिका चुनाव के रविवार को घोषित हुए चुनावों में मेवाड़ में कांग्रेस व भाजपा ने कुल 13 निकायों में से 6-6 पर कब्जा जमाया तो भींडर में जनता सेना ने परचम फहराया। उदयपुर संभाग में जिन निकाय में जीत का अंतर बहुत कम है वहां बैक चैनल से खरीद-फरोख्त, मान-मनुहार व तोडफ़ोड़ के जबर्दस्त प्रयास रविवार को ही शुरू हो गए। हालांकि सभी दलों के प्रत्याशी बाड़ेबंदी में होने से तोडफ़ोड़ असान नहीं दिख रही है। मेवाड़ में कांग्रेस ने राजसमंद, सलूंबर, छोटीसादड़ी में कांग्रेस के किलों को ध्वस्त करते हुए विजय पताका फहराई। उदयपुर के सलूंबर में सांसद अर्जुनलाल मीणा की पत्नी मीना मसारा चुनाव हार गई।

उदयपुर के भीण्डर में 21 वार्डों में भाजपा की और एक सीट पर कांग्रेस की जमानत जब्त हो गई। राजसमंद में भाजपा को बड़ा नुकसान हुआ। विधायक किरण माहेश्वरी के निधन के बाद उनकी बेटी दीप्ति माहेश्वरी भी चुनावों में सक्रिय हुईं थीं मगर भाजपा को हार का मुंह देखना पड़ा। यहां टिकट वितरण को हार का बड़ा कारण बताया जा रहा है। राजसमंद में कांग्रेस जबकि देवगढ़ में भाजपा जीती। सलूंबर नगर पालिका में भाजपा से बागी हुए पूर्व पालिका अध्यक्ष के पति धर्मेन्द्र शर्मा चुनाव जीत गए। यहां 30 साल बाद भाजपा हारी व हार का प्रमुख कारण अंदरखाने की भितरघात थीं।

फतहनगर में पूर्व पालिका अध्यक्ष राजेश चपलोत चुनाव हार गए। सलूंबर की 25 सीटों में से कांग्रेस को 15, भाजपा को 8 व अन्य को 2 पर जीत मिली। भींडर के 25 वार्डों में से जनता सेना को 13 कांग्रेस को10, भाजपा को 2, फतहनगर पालिका के 25 वार्डों में से भाजपा को 14, कांग्रेस को 11 पर जीत मिली। राजसमंद में 45 में से 27 पर कांग्रेस, (1 समर्थित निर्दलीय भी) भाजपा को 18 पर जीत मिली। देवगढ़ में कुल 20 में से भाजपा को 14 कांग्रेस को 11 पर जीत मिली।

कपासन में निर्दलीय खोलेगा भाग्य का पिटारा

चित्तौडग़ढ़ जिले के तीन निकायों में से दो में कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत मिल गया जबकि एक में निर्दलियों के समर्थन से ही फैसला हो सकेगा। बेगूं, बड़ीसादडी व कपासन में चुनाव हुए थे। बेगूं एवं बड़ीसादड़ी में कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत मिल गया तो कपासन में बोर्ड बनाने के लिए निर्दलियों का वोट हासिल करना होगा। बेगूं के 25 वार्ड में से 15 में कांग्रेस प्रत्याशी जीते वहीं आठ में कांग्रेस ने परचम फहराया। दो वार्डो में निर्दलीयों ने जीत दर्ज करवाई। बड़ीसादड़ी में कांग्रेस ने 25 में से 14 वार्डो में, भाजपा ने 10 वार्डों में जीत दर्ज कराई। एक वार्ड में निर्दलीय ने जीत हािसल की है। वहीं कपासन में भाजपा को 12 एवं कांग्रेस को 11 सीटें मिली है। यहां दो निर्दलीय प्रत्याशी जीते। अब पूरा दारोमदार इन पर है।
बड़ीसादड़ी में कांग्रेस को पूर्ण बहुमत मिल गया। 25 में से 14 पर कांग्रेस, 10 पर भाजपा व एक वार्ड निर्दलीय के खाते में गया। दो बार पालिकाध्यक्ष रहे नक्षत्रमल धाकड़ को केवल 64 वोट मिले। कांग्रेस के चेयरमैन पद के दावेदार मनोज बाबेल हार गए। प्रतापगढ़ शहर में भाजपा और जिले के छोटीसादड़ी में कांग्रेस को बहुमत मिला। प्रतापगढ़ परिषद में 40 में से भाजपा के 21 और कांग्रेस के 19 प्रत्याशी जीते। छोटीसादड़ी में 25 सीटों में से कांग्रेस को 14 जबकि भाजपा को 11 सीटें मिली। यहां कांग्रेस का बोर्ड बनना तय है।
कुशलगढ़ में भाजपा की क्लिन स्विप
कुशलगढ़ नगरपालिका के 20 वार्डों में से 15 सीटें जीत कर भाजपा ने शानदार जीत दर्ज की। कांग्रेस के 2 जबकि 3 निर्दलीय जीते। यहां पर कांगे्रस में नेता प्रतिपक्ष को छोडकऱ बाकी सभी दिग्गज चुनाव हार गए। डंूगरपुर में (शेष पेज 8 पर)


Share