पेगासस मामले पर सुप्रीम कोर्ट के बयान के बाद भाजपा ने कांग्रेस पर हमला बोला, ’29 मोबाइल में स्पाईवेयर नहीं मिला, क्या देश से माफी मांगेंगे राहुल’

Question raised in Supreme Court on EWS quota, reservation is not for poverty removal, it is a way to end discrimination
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। पेगासस मामले पर सुप्रीम कोर्ट के बयान के बाद भाजपा ने आज एक बार फिर कांग्रेस पर हमला बोला। भाजपा के रविशंकर प्रसाद ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि सुप्रीम कोर्ट की बनाई गई हाई-प्रोफाइल तकनीकी समिति, जिसमें प्रौद्योगिकी क्षेत्र के प्रख्यात लोग शामिल थे उसने जांच के लिए जमा किए गए 29 मोबाइलों में से किसी में भी पेगासस वायरस नहीं पाया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने इसे लेकर कई आरोप लगाए थे। तो अब क्या राहुल गांधी इसके लिए देश से माफी मांगेंगे?

प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी ने कहा था कि पेगासस लोकतंत्र को कुचलने का एक प्रयास है। यह देश और देश की संस्थाओं पर हमला है। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि यह एक राजनीति से प्रेरित अभियान था और सच्चाई से बहुत दूर था। यह प्र.म. मोदी को कमजोर करने और बदनाम करने की कोशिश थी।

प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी और उनकी पार्टी की समस्या यह है कि उन्हें हमारे प्र.म. और उनकी सरकार से दुश्मनी है। वे अपनी पार्टी को बढ़ाने के लिए झूठ का सहारा लेते हैं। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस पार्टी को हमें जासूसी पर उपदेश नहीं देना चाहिए। जब स्वर्गीय प्रणब मुखर्जी वित्त मंत्री थे, तब कांग्रेस ने उनके कार्यालय में जासूसी कराने का काम किया था। प्रसाद ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने भी सीलबंद लिफाफे में पेश की गई जांच रिपोर्ट को राष्ट्रहित से जुड़ा बताते हुए कहा कि इसे पूरी तरह जारी नहीं किया जाएगा। इसकी एक संक्षिप्त जानकारी ही सार्वजनिक की जाएगी। इससे पहले भाजपा के अमित मालवीय ने एक ट्वीट करके कहा, ‘जो 29 मोबाइल जमा किए गए थे, उसमें से एक में भी पेगासस नहीं मिला है। इसके लिए कांग्रेस ने देशद्रोह का आरोप लगाया था। कांग्रेस ने पार्लियामेंट का सेशन चलने नहीं दिया था। अब क्या वे इसके लिए माफी मांगेंगे? इस कैंपेन का सच्चाई से कोई लेना देना नहीं है।‘


Share