बिहार कांग्रेस में बड़ी टूट के आसार : पूर्व विधायक का दावा

बिहार कांग्रेस में बड़ी टूट के आसार : पूर्व विधायक का दावा
Share

एनडीए में जाएंगे 11 एमएलए, प्रदेशाध्यक्ष भी छोड़ सकते हैं पार्टी

पटना (एजेंसी)। बिहार विधानसभा चुनाव में हार के बाद कांग्रेस में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। पार्टी के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल की छुट्टी कर दी गई है। इस बीच कांग्रेस के लालगंज के पूर्व विधायक भरत सिंह ने दावा किया है कि पार्टी के 11 विधायक कभी भी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में शामिल हो सकते हैं। दावा है कि पार्टी छोडऩे वाले नेताओं में प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा व कांग्रेस विधायक दल के नेता अजित शर्मा के भी नाम जुड़ सकते हैं। भरत सिंह ने कांग्रेस को राष्ट्रीय जनता दल से अलग होने की भी सलाह दी है। कांग्रेस नेता के इस बयान पर बिहार में सियासत गर्म हो गई है।

विदित हो कि पूर्व विधायक भरत सिंह कांग्रेस में प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा के पुराने विरोधी रहे हैं। बीते दिनों कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम  में उन्होंने मदन मोहन झा सहित कई बड़े नेताओं पर गंभीर आरोप लगाते हुए धरना भी दिया था। अब उनका ताजा बयान भी मदन मोहन झा सहित कई बड़े नेताओं को कटघरे में खड़ा कर रहा है।

एनडीए में शामिल हो सकते हैं कांग्रेस के 11  विधायक

पूर्व विधायक भरत सिंह ने कहा है कि बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन में पार्टी को जो 70 सीटें मिलीं, उनमें अधिकांश बाहरी लोगों को बेच दी गईं। उनमें 11 जीत भी गए। उनका पार्टी से कोई लगाव नहीं है। वे कभी भी एनडीए में शामिल हो सकते हैं।

अशोक चौधरी की राह पकड़ सकते हैं मदन मोहन झा

भरत सिंह ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा पर भी सीधा हमला किया। कहा कि मदन मोहन झा अपनी छुट्टी को भांप चुके हैं। वे अशोक चौधरी की राह पर जा सकते हैं। विदित हो कि कांग्रेस के अध्यक्ष रहे अशोक चौधरी पद से हटाए जाने के बाद जनता दल यूनाइटेड में शामिल हो गए थे। भरत झा, इसी घटना की ओर इशारा कर रहे थे। झा के अनुसार, कांग्रेस विधायक दल नेता  अजित शर्मा सहित बिहार में कांग्रेस के कई अन्य बड़े नेता भी बाहर का रास्ता पकड़ सकते हैं।

एक्शन में विलंब नहीं करे आलाकमान

भरत सिंह ने कहा कि कांग्रेस आलाकमान को अब एक्शन में विलंब नहीं करना चाहिए। आलाकमान को कांग्रेस में दुकान खोलने वालों को हटाना चाहिए।

कांग्रेस ने बयान को बताया निराधार

भरत सिंह के बयान पर कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता ने पलटवार करते हुए कहा कि बिकाऊ या दलबदलु किस्म के लोग 2015 में ही चले गए थे। अब कांग्रेस में बिकाऊ, दलबदलु, सत्ता लोभी या लालची लोग नहीं बचे। इस पर भरत सिंह ने फिर जवाब दिया कि जब पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष ही गलत हैं तो प्रवक्ता कैसा होगा, समझा जा सकता है। वे पार्टी में नए-नए आए हैं। अपनी बात पार्टी फोरम पर उठाने के बदले मीडिया में ले जाने पर उन्होंने कहा कि आलाकमान तक सबों की बात नहीं पहुंचती, इसलिए मीडिया का सहारा लेना पड़ा।

जदयू बोला : बिहार कांग्रेस में भगदड़ तय

कांग्रेस नेता के इस बयान पर बिहार में सियायत गर्म होती दिख रही है। जदयू के प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा है कि कांग्रेस नेता ने ही पार्टी की हकीकत बयां कर दी है। बिहार कांग्रेस में भगदड़ तय है।


Share