पंड्या के कोच का बड़ा खुलासा- वीडियो फुटेज को लेकर हुई थी एक बड़ी ‘डील’

पंड्या के कोच का बड़ा खुलासा- वीडियो फुटेज को लेकर हुई थी एक बड़ी 'डील’
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर इन दिनों हर तरफ सिर्फ और सिर्फ हार्दिक पंड्या की चर्चा है। वो बल्लेबाज़ जिसने अपने बिंदास क्रिकेट से हर किसी को दीवाना बना रखा है। कप्तान विराट कोहली से लेकर क्रिकेट के पुराने दिग्गज हर कोई इन दिनों पंड्या की तारीफ कर रहे हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे टी-20 मैचों में उन्होंने आखिरी ओवर में 2 छक्के लगातार टीम इंडिया को सीरीज में जीत दिला दी। आखिरी क्या राज है उनकी इस ताबड़तोड़ बैटिंग का इसको लेकर दिग्गजों की अलग-अलग राय है। लेकिन पंड्या के कोच जीतेंद्र सिंह का कहना है उनकी धमाकेदार बैटिंग का राज पंड्या और उनके बीच हुई एक डील में छुपा है।

मोबाइल पर भेजा वीडियो

इस साल जून के महीने में लॉकडाउन के दौरान हार्दिक पंड्या वडोदरा में प्रैक्टिस कर रहे थे। करीब एक महीने की ट्रेनिंग के बाद उनके कोच जीतेंद्र सिंह वापस अपने गांव लौट गए। लेकिन हार्दिक पंड्या ने अपने कोच से जाते वक्त कहा कि अगर उनके शॉर्ट में कोई कमी रह गई तो फिर उन्हें वापस आना पड़ेगा। लिहाजा गांव पहुंचते ही पंड्या ने अपने कोच को 60 से 70 वीडियो भेजे। इस वीडियो में उनके अलग-अलग बैटिंग शॉट थे। वीडियो भेजने के बाद आखिर में पंड्या ने टेक्सट मेसेज लिखा- क्या मेरे शॉट में सबकुछ ठीक है?

क्या बोले हार्दिक के कोच?

पांड्या के कोच ने कहा, मेरे और हार्दिक के बीच ये डील ये हुई थी कि अगर उनके वीडियो में कुछ ठीक नहीं रहा तो मुझे वापस वडोदरा लौटना पड़ेगा। लेकिन उनके शॉट्स में कोई कमी नहीं थी। पंड्या उन दिनों पिता बनने वाले थे। लिहाजा वो अपनी पत्नी के पास लौट गए। जब वो नेट्स पर बैटिंग के लिए आते हैं तो वो मुझे अपना सिर, पैर और हाथ देखने के लिए कहते हैं। दो सीजन पहले ही उन्होंने अपना स्टांस बदला है। वो अब क्रीज में और गहराई से जा कर शॉट्स खेल सकते हैं। वो बाउंसर और यॉर्कर से नहीं डरते हैं।

मैच फिनिशर बनने की प्रैक्टिस

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रविवार को सिडनी में सिर्फ 22 गेंदों पर 42 रनों की नाबाद पारी खेलने के बाद पंड्या ने कहा था कि उन्होंने लॉकडाउन के दौरान मैच फिनिश करने की प्रैक्टिस की थी। उन्होंने ये भी कहा था कि वो इस बात पर ध्यान नहीं दे रहे थे कि रन बन रहे हैं या नहीं उनका एक ही मकसद था कि कैसे मैच को फिनिश किया जा सके। इससे पहले आईपीएल के दौरान उन्होंने कहा था कि वो अपनी बैटिंग टेक्निक पर ध्यान दे रहे हैं।


Share