विकास दीपोत्सव का शुभारम्भ योगी बोले-अयोध्या जाने से डरती थीं सरकारें, मंत्री नहीं लेते थे राम-कृष्ण का नाम

उत्तर प्रदेश - योगी सरकार आज पहला पेपरलेस बजट पेश करेगी
Share

लखनऊ (एजेंसी)।  पहले की सरकारें अयोध्या जाने से डरती थीं। प्रभू श्रीराम व कृष्ण का नाम लेने से बचती थीं। पर, अब ऐसा नहीं है। अयोध्या में दीपोत्सव हो रहे हैं। वृंदावन में रंगोत्सव मनाए जा रहे हैं। वाराणसी में देव दीपावली तथा प्रयागराज में भव्य कुम्भ हो रहे हैं। पहले बहन-बेटियां स्कूल जाने से डरती थीं। अब गुंडों की हिम्मत नहीं है। हालात पूरी तरह बदल गए हैं। यह कहना है प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का। वह गुरूवार को झूलेलाल वाटिका में नगर निगम व जिला प्रशासन की ओर से शुरू हुए विकास दीपोत्सव के शुभारम्भ के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। आयोजन तीन नवम्बर तक चलेगा।

इससे पूर्व उन्होंने आदिगंगा मां गोमती की आरती की तथा लेजर शो में रामायण की कथा का वर्णन देखा। इस मौके पर स्ट्रीट वेंडरों को सम्मानित भी किया गया। 50 स्ट्रीट वेंडरों को कार्ट तथा हजार को कैनोपी दी गई। कोरोना वारियरों को भी अलंकृत किया गया।

वहीं कैबिनेट मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने भी विपक्ष पर निशाना साधा। कहाकि उत्तर प्रदेश आगे बढ़ेगा तो देश आगे बढ़ेगा। उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहाकि विपक्ष की सोच संकीर्ण थी, जिसे योगी सरकार ने बदला है। पहले त्यौहारों पर कफ्र्यू लगता था। जुलूस निकलने पर लाठीचार्ज होता था। दंगे होते थे। लेकिन अब नया माहौल है। मंत्री मंदिर जाने से कतराते थे, लेकिन कुम्भ में पूरे मंत्रिमंडल ने एक साथ डुबकी लगाई।


Share