बीसीसीआई को रोहित की शर्त पर लेना पड़ा विराट को हटाने का कड़ा फैसला, हिटमैन ने वनडे और टी-20 दोनों का प्रभार संभालने की शर्त रखी थी

BCCI had to take a tough decision to remove Virat on Rohit's condition
Share

मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। भारतीय क्रिकेट टीम के आगामी दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले एकदिवसीय मैच के कप्तान के रूप में विराट कोहली को हटाकर बीसीसीआई ने रोहित शर्मा को कप्तानी सौंप दी है। विराट से कप्तानी वापस लेने के बीसीसीआई के फैसले से विवाद खड़ा हो गया है। मैनेजमेंट में काफी लोग इस फैसले से खुश नहीं हैं। मीडिया में भी रोहित को कप्तानी सौंप जाने पर कई तरह के सवाल उठ रहे थे। हालांकि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने यह साफ किया कि सफेद गेंद के लिए दो कप्तानों की जरूरत नहीं होती है इस लिए टी20 के अलावा वनडे मैचों की जिम्मेदारी भी रोहित शर्मा को दी जा रही हैं। यदि सफेद गेंद के लिए अलग-अलग दो कप्तान होंगे तो उलझनें पैदा होती हैं। सौरभ गांगुली ने आगे कहा था कि मैनेजमेंट ने विराट कोहली से कप्तानी न छोडऩे का अनुरोध किया था लेकिन वह नहीं मानें थे जिसके बाद रोहित शर्मा को टी20 का नया कैप्टन बनाया गया।

विराट कोहली से कप्तानी छीनी जानें वाले मामले पर तो सौरभ गांगुली की सफाई आ गयी है लेकिन ताजा रिपोर्ट की मानें तो खबरें हैं कि रोहित शर्मा ने बीसीसीआई कहा था के वह केवल टी20 मैचों के कप्तान नहीं बनना चाहते हैं बल्कि सफेद गेंद की पूरी जिम्मेदारी अपने हाथ में लेना चाहते हैं।

सौरभ गांगुली के विराट कोहली से कप्तानी न छोडऩे और सफेद गेंद की कप्तानी को लेकर दिए गये बयानों के विपरीत ईएसपीएनक्रिकइंफो द्वारा खबर है कि विराट से टी20 कप्तान के पद से हटने का अनुरोध नहीं किया था, लेकिन विराट कप्तान के रूप में आगे बने रहना नहीं चाहते थे। क्रिकबज प्लस ने बताया कि यह रोहित शर्मा ही थे, जिन्होंने वनडे और टी20ई दोनों का प्रभार संभालने की शर्त रखी थी। उन्होंने मांग की थी कि वह टी20 और वनडे दोनों की कप्तानी करना चाहते हैं। इसके बाद विराट कोहली को भारतीय एक दिवसीय क्रिकेट टीम की कप्तानी से हटा दिया गया और राष्ट्रीय चयन समिति ने 2023 वनडे विश्व कप तक रोहित शर्मा को नया कप्तान बनाया है। एक अन्य अहम घटनाक्रम में अजिंक्य रहाणे को टेस्ट टीम की उपकप्तानी से हटा दिया गया है। उनकी जगह रोहित उपकप्तान होंगे।

रिपोर्टों के अनुसार, जब चयनकर्ताओं ने उन्हें एकदिवसीय कप्तान के रूप में नियुक्त करने के लिए मुलाकात की, उस समय रोहित, ऋषभ पंत, केएल राहुल और अजिंक्य रहाणे के साथ मुंबई में बल्लेबाजी सत्र कर रहे थे। वह शायद सभाओं के समय के बारे में नहीं जानते थे। हालांकि, उन्होंने पहले सूचित किया था कि यदि चयनकर्ता चाहते हैं कि उन्हें टी20 का नेतृत्व करने के लिए अगर चुना जाता है तो उन्हें वनडे की भी कप्तानी दी जाए। इस बीच, रोहित, पांच इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) खिताब वाले एकमात्र कप्तान है। उन्होंने कोहली की अनुपस्थिति में अतीत में राष्ट्रीय टीम का नेतृत्व करते हुए भी अच्छा प्रदर्शन किया है। दरअसल, रोहित ने भारत को 2018 एशिया कप में जीत दिलाने के बाद खुले तौर पर कहा था कि वह पूर्णकालिक आधार पर कमान संभालने के लिए तैयार हैं।


Share