बीसीसीआई सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट, पुजारा-रहाणे पर गिर सकती है गाज, कई दिग्गज निशाने पर

BCCI central contract, Pujara-Rahane may be blamed, many veterans on target
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई जनवरी से अप्रैल के बीच में हर साल सालाना केंद्रीय अनुबंध की घोषणा करती है। इस बार भी केंद्रीय अनुबंध का ऐलान होना है, लेकिन इससे पहले खबर ये है कि भारतीय टीम के दिग्गज खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे पर गाज गिर सकती है। चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे इस समय बीसीसीआई के कॉन्ट्रैक्ट में ग्रुप ए में शामिल हैं, लेकिन इनको प्रदर्शन को देखते हुए बोर्ड इन्हें डिमोट कर सकता है। इसके अलावा दो ऐसे भी नाम हैं, जिन्हें ए प्लस कैटेगरी में शामिल किया जा सकता है।

बोर्ड ने करार को चार भागों में बांटा है, जिसमें ए प्लस, ए, बी और सी कैटेगरी शामिल है। कैटेगरी ए प्लस में मौजूदा समय में विराट कोहली, रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह हैं, लेकिन बोर्ड चाहेगा कि इस कैटेगरी में फ्यूचर कैप्टन कहे जा रहे केएल राहुल और रिषभ पंत को शामिल किया जाए। बीसीसीआई सालाना ए प्लस कैटेगरी वाले खिलाड़ी को 7 करोड़, ए कैटेगरी वाले खिलाड़ी को 5 करोड़, बी कैटेगरी वाले खिलाड़ी को 3 करोड़ और सी कैटेगरी वाले खिलाड़ी को 1 करोड़ रूपये देती है। इसका चुनाव बोर्ड के अधिकारी, पांचों चयनकर्ता और मुख्य कोच करते हैं।

मौजूदा समय में बीसीसीआई ने 28 खिलाडिय़ों के साथ करार किया हुआ है। इस पुरानी लिस्ट में ज्यादा बदलाव तो नहीं होंगे। हालांकि, कुछ खिलाडिय़ों का प्रमोशन और डिमोशन होने की पूरी संभावना है। इसके अलावा कुछ खिलाडिय़ों को इसमें जगह भी मिल सकती है। बीसीसीआई से जुड़े एक सूत्र ने बताया, जाहिर है, रोहित, कोहली और बुमराह तीन अनिवार्य खिलाड़ी होने के नाते ए प्लस श्रेणी में होंगे, लेकिन अब राहुल और पंत धीरे-धीरे खुद को ऑल-फॉर्मेट रेगुलर के रूप में स्थापित कर रहे हैं, इसलिए यह देखना होगा कि दोनों को प्रमोशन मिलता है या नहीं।

वहीं, सूत्र ने खराब फॉर्म से जूझ रहे चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे को लेकर कहा, सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट इस बात का एक प्रदर्शन संकेतक है कि आप पिछले सीजन के दौरान अपने प्रदर्शन के अनुसार कहां खड़े हैं। अगर बीसीसीआई और मुख्य कोच (राहुल) द्रविड़ दोनों को सम्मानित करने और उन्हें ग्रुप ए में रखने का फैसला करते हैं, तो यह एक अलग मुद्दा है, लेकिन सामान्य परिस्थितियों में, वे आदर्श रूप से ग्रुप ए में शामिल नहीं होंगे। ऐसा ही कुछ हार्दिक पांड्या और इशांत शर्मा के साथ होने वाला है, जो चोट और खराब प्रदर्शन के कारण निशाने पर हैं।

वहीं, प्रमोशन की बात करें तो ग्रुप बी में एकमात्र खिलाड़ी शार्दुल ठाकुर आगे के ग्रुप में शामिल होने के हकदार हैं, क्योंकि उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया है। इसके अलावा मोहम्मद सिराज, जो मौजूदा समय में ग्रुप सी का हिस्सा हैं, उनको बी या फिर ए कैटेगरी में जगह मिल सकती है। शुभमन गिल और हनुमा विहारी ग्रुप सी से ग्रुप बी में जगह बना सकते हैं। वहीं, वेंकटेश अय्यर और हर्षल पटेल को ग्रुप सी में शामिल किया जा सकता है।

2021 का बीसीसीआई का सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट

ए+ कैटेगरी:विराट कोहली, रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह

ए कैटेगरी: आर अश्विन, रवींद्र जडेजा, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, शिखर धवन,                                                       केएल राहुल, मोहम्मद शमी, इशांत शर्मा, रिषभ पंत और हार्दिक पांड्या

बी कैटेगरी: रिद्धिमान साहा, उमेश यादव, भुवनेश्वर कुमार, शार्दुल ठाकुर और मयंक अग्रवाल

सी कैटेगरी: कुलदीप यादव, नवदीप सैनी, दीपक चाहर, शुभमन गिल, हनुमा विहारी, अक्षर                                              पटेल, श्रेयस अय्यर, वॉशिंग्टन सुंदर, युजवेंद्र चहल और मोहम्मद सिराज।


Share