राजस्थान में रूठा मानसून- उदयपुर समेत प्रदेश के 29 जिलों में सामान्य से कम बारिश

बदला मौसम : राजस्थान के कई जिलों में बारिश
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)।  राजस्थान में मानसून रूठा हुआ है। पिछले 50 दिनों के रिकॉर्ड पर नजर डालें तो बीकानेर संभाग के श्रीगंगानगर में तापमान सबसे ज्यादा रहा लेकिन बारिश सबसे कम हुई। पिछले पचास दिन में 45 डिग्री सेल्सियस से अधिक तापमान रहने वाला श्रीगंगानगर इकलौता जिला है। वहां सबसे कम 61 मिमी बारिश हुई। प्रतापगढ़ पर बादलों की कृपा ज्यादा बरसी, यहां 207.8 मिमी बारिश हुई। राज्य के कुल 29 जिलों में सामान्य से कम बारिश हुई है। मानसून के रूठने से सूखा पड़ा हुआ है। किसान बारिश के इंतजार में बोवनी नहीं कर रहे हैं।

समय से पहले पहुंचे मानसून ने राजस्थान में एक ही जगह कई दिन गुजार दिए लेकिन बरसे नहीं। यही कारण रहा कि पूरे राजस्थान में ही बारिश कम हुई है। आमतौर पर प्रदेश में 20 जुलाई तक144.8 मिमी बारिश हो जाती है लेकिन इस बार 108.4 मिमी बारिश हुई है जो सामान्य से 25 प्रतिशत मिमी कम है। पश्चिमी राजस्थान हो या फिर पूर्वी राजस्थान, हर तरफ बारिश उम्मीद से कम होने का सीधा नुकसान किसान को हुआ है। पूर्वी राजस्थान में जुलाई के तीसरे सप्ताह तक 198.4 मिमी बारिश हो जाती है लेकिन इस बार यहां 125.1 मिमी बारिश हुई है। जो सामान्य से 37 प्रतिशत कम है। इसी तरह पश्चिमी राजस्थान में भी बारिश उम्मीद से कम है। यहां अब तक 95.2 मिमी बारिश हुई है जबकि आमतौर पर इन दिनों में 102.2 मिमी बारिश होती है।

इन जिलों में सामान्य बारिश

प्रदेश में सिर्फ बीकानेर और चूरू ही ऐसे हैं, जहां सामान्य से कुछ अधिक बारिश हुई। बीकानेर में एक प्रतिशत और चूरू में सात प्रतिशत अधिक बारिश हो चुकी है। सवाई माधोपुर में तीन प्रतिशत ज्यादा बारिश हुई। इसके अलावा सभी जिलों में सामान्य से कम बारिश हुई है। जैसलमेर में अब तक की सबसे ज्यादा बारिश दर्ज हुई है। यहां 106 प्रतिशत ज्यादा बारिश हुई है। यहां आमतौर पर 63.4 मिमी बारिश होती है जो इस बार 130.4 मिमी बारिश हुई है। मिलीमीटर की दृष्टि से सर्वाधिक पानी प्रतापगढ़ में 207 रूरू बरसा है।


Share