एलोपैथ विवाद पर बोले बाबा रामदेव – ‘गिरफ्तार तो किसी का बाप भी नहीं करा सकता…’

एलोपैथ विवाद पर बोले बाबा रामदेव - 'गिरफ्तार तो किसी का बाप भी नहीं करा सकता...'
Share

हरिद्वार (एजेंसी)। बाबा रामदेव द्वारा एलोपैथ को स्टूपिट साइंस बताने के बाद से योगगुरू चिकित्सकों के निशाने पर आ गए हैं। कोई उनकी गिरफ्तारी की मांग कर रहा है तो कोई इसे कोरोना योद्धा चिकित्सकों का अपमान बता रहा है।
इस मामले में बाबा रामदेव ने अब एक और बड़ा बयान दे दिया है। उनका कहना है कि किसी का बाप भी रामदेव को गिरफ्तार नहीं करा सकता है। बता दें कि बुधवार को सोशल मीडिया पर इसी विवाद के चलते ‘अरेस्ट बाबा रामदेवÓ ट्रेंड कर रहा था। जिसके जवाब में रामदेव ने यह टिप्पणी दी।

इस दौरान उन्होंने आईएमए पर तंज कसते हुए कहा कि अरेस्ट तो उनका बाप नहीं कर सकता बाबा रामदेव को, लेकिन वह एक शोर मचा रहे हैं कि ‘क्विक अरेस्ट स्वामी रामदेव’। आगे उन्होंने कहा कि कभी कुछ चलाते हैं, कभी कुछ चलाते हैं। कभी ठग रामदेव, कभी महाठग रामदेव।

ऐलोपैथी की आलोचना को लेकर बुरी तरह घिरे योगगुरू बाबा रामदेव ने अपना बयान भले ही वापस ले लिया हो, लेकिन इंडियन मेडिकल असोसिएशन (आईएमए) की नाराजगी खत्म नहीं हुई है। बाबा रामदेव पर 1 हजार करोड़ रूपए का मानहानि का केस करने के बाद अब पीएम मोदी से भी शिकायत की गई है। आईएमए ने पीएम से कहा है कि रामदेव को झूठी जानकारियां फैलाने से रोका जाए और उनके खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज होना चाहिए।

आईएमए ने पीएम मोदी को लेटर लिखकर कहा, पतंजलि के मालिक रामदेव की ओर से टीकाकरण पर गलत सूचनाओं के प्रचार को रोकना चाहिए। एक वीडियो में उन्होंने दावा किया कि 10 हजार डॉक्टर और लाखों लोग दोनों डोज के बावजूद मर चुके हैं। उनके खिलाफ देशद्रोह के आरोप में मुकदमा दर्ज होना चाहिए।


Share