ऑस्ट्रेलिया सरकार ने जोकोविच को सार्वजनिक खतरा बताकर हिरासत में लिया, वीजा भी रद्द

ऑस्ट्रेलिया सरकार ने जोकोविच को सार्वजनिक खतरा बताकर हिरासत में लिया, वीजा भी रद्द
Share

मेलबर्न (एजेंसी)। विश्व के नंबर वन टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच को ऑस्ट्रेलिया में दूसरी बार हिरासत में लिया गया है। जोकोविच के वकील ने यह जानकारी दी। अब रविवार को ऑस्ट्रेलिया की एक कोर्ट में उनकी सुनवाई होगी। ऑस्ट्रेलिया सरकार ने उन्हें सार्वजनिक खतरा बताया है। अब कोर्ट तय करेगा कि जोकोविच ऑस्ट्रेलिया में बिना वैक्सीनेशन के रह सकते हैं या नहीं। इससे पहले, ऑस्ट्रेलिया के इमिग्रेशन मिनिस्टर एलेक्स हॉक ने नोवाक जोकोविच का वीजा रद्द कर दिया था।

जोकोविच के वकील ने ऑस्ट्रेलिया सरकार के इस फैसले को तर्कहीन बताया है। उन्होंने इसके खिलाफ कोर्ट में अपील की है, जिसकी सुनवाई रविवार को होगी। जोकोविच को अगर ऑस्ट्रेलिया ओपन खेलना है तो उन्हें सोमवार तक टूर्नामेंट में शामिल होना होगा। अगर नोवाक कोर्ट में भी केस हार जाते हैं तो उनका वीजा तो रद्द होगा ही, इसके साथ ही साथ ऑस्ट्रेलिया का वीजा तीन साल के लिए प्रतिबंधित भी किया जा सकता है।

कोरोना संक्रमित होने के बावजूद पत्रकार से मिले थे

ऑस्ट्रेलिया ओपन टूर्नामेंट में आने से पहले जोकोविच कोरोना संक्रमित थे, इसके बावजूद पिछले महीने अपने देश सर्बिया के कई कार्यक्रमों में भाग लिया था। जोकोविच ने खुद माना था कि उन्होंने पॉजिटिव रहते हुए भी एक पत्रकार से मुलाकात की थी। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश करने के लिए इमिग्रेशन फॉर्म में गलतियां भी की थीं। इसके कारण वो जैसे ही ऑस्ट्रेलिया पहुंचे उनका वीजा रद्द कर दिया गया था।

पहले जीत चुके हैं केस

इसके बाद वीजा रद्द होने के मामले में नोवाक ने ऑस्ट्रेलिया सरकार के खिलाफ केस जीत लिया था। मेलबर्न कोर्ट ने ऑस्ट्रेलियाई सरकार द्वारा जोकोविच के वीजा रद्द करने के फैसले को गलत माना था। अदालत ने आदेश दिया था कि उनका पासपोर्ट और बाकी जो भी सामान सरकार द्वारा जब्त किया गया है, उसे तुरंत वापस किया जाए। इसके बाद उन्होंने अभ्यास भी शुरू कर दिया था।


Share