असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा की दो टूक- ‘मदरसे में देश विरोधी गतिविधियां हुई तो ढहा देंगे’

CM Biswa proposed 5 national capitals, said - Kejriwal makes fun of states
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। असम में एक मदरसे को ढहाए जाने के बाद राजनीति तेज हो गई है। एआईयूडीएफ प्रमुख बदरूद्दीन अजमल फिलहाल सरकार को घेर रहे हैं। इस बीच असम के सीएम हिमंत बिस्वा ने कहा कि अगर मदरसे में देश विरोधी गतिविधियां हुई तो उनको ढहा दिया जाएगा। यह राजनीतिक बयानबाजी बोंगाईगांव जिले में मदरसे को गिराए जाने के बाद तेज हुई है। इस मदरसे पर जिहादी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप था। इसको प्रशासन ने बुधवार को गिरा दिया। मदरसे पर यह कार्रवाई भवन नियमों का उल्लंघन करने पर हुई थी। सीएम के बयान से पहले अजमल ने असम सरकार पर बेहद संगीन आरोप लगाया। बदरूद्दीन अजमल का कहना है कि मुख्यमंत्री असम में ठीक वही तरीका अपना रहे हैं, जो योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश में कर चुके हैं। असम सरकार पर मदरसों से छात्रों को निष्कासित करने का आरोप है। अजमल ने जिहादी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में एक शिक्षक को गिरफ्तार करने के बाद 31 अगस्त को दो मदरसों से छात्रों को निष्कासित करने की निंदा की।

‘मदरसों का इस्तेमाल राष्ट्रविरोधी गतिविधियों के लिए नहीं हो’: इस पूरे मामले पर मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा का कहना है कि अगर सरकार को यह जानकारी मिलेगी कि मदरसों का इस्तेमाल राष्ट्रविरोधी गतिविधियों के लिए किया जा रहा है तो इस तरह के संस्थानों को ढहाया जाएगा।  हिमंत बिस्वा ने कहा, हमारी मदरसों को ढहाए जाने की कोई मंशा नहीं है। हमारी मंशा सिर्फ यही है कि इन मदरसों का इस्तेमाल जिहादी तत्वों के लिए नहीं हो। अगर हमें ऐसी कोई जानकारी मिलेगी कि मदरसों की आड़ में राष्ट्रविरोधी गतिविधियों के लिए इनका इस्तेमाल किया जा रहा है तो इन्हें ढहाया जाएगा।


Share