अश्विन ने सुनाया पूरा किस्सा, जडेजा का दोहरा शतक देखना चाहते थे रोहित

Ashwin narrated the whole story, Rohit wanted to see Jadeja's double century
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। श्रीलंकाई टीम इन दिनों भारत के दौरे पर है और दोनों टीमों के बीच फिलहाल दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जा रही है। भारत ने मोहाली टेस्ट एक पारी और 222 रनों से जीता। यह टेस्ट टीम इंडिया के लिए कई मायनों में खास रहा, इस मैच के दौरान स्टार स्पिनर आर अश्विन भारत की ओर से सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट लेने वाले दूसरे भारतीय बने। अश्विन ने इस मामले में कपिल देव को पीछे छोड़ा। बीसीसीआई टीवी ने अश्विन का एक इंटरव्यू शेयर किया है, जिसमें उन्होंने रोहित की कप्तानी को लेकर भी बात की है। टेस्ट कप्तान के तौर पर यह रोहित शर्मा का पहला टेस्ट मैच था और उनकी कप्तानी की काफी तारीफ हो रही है। अश्विन ने रोहित को लेकर कहा, हम सभी जानते हैं कि रणनीति को लेकर रोहित कितने अच्छे कप्तान हैं। वह इस बात का ध्यान रखते हैं कि मैदान पर हर खिलाड़ी कंफर्टेबल रहे, जिससे टीम का प्रदर्शन अच्छा रहे। रविंद्र जडेजा ने इस मैच में नॉटआउट 175 रनों की पारी खेली थी। भारत ने 8 विकेट पर 574 रनों पर पारी घोषित कर दी थी। जडेजा का दोहरा शतक पूरा नहीं होने को लेकर अश्विन ने कहा, रोहित शर्मा चाहते थे कि जडेजा अपना दोहरा शतक लगाएं, लेकिन जड्डू ने कहा कि अभी समय लगेगा और पारी घोषित करना सही फैसला रहेगा। जडेजा ने खुद भी कहा था कि श्रीलंकाई खिलाड़ी थके हुए थे और इसीलिए उन्होंने टीम से पारी घोषित करने की बात कही थी।

अश्विन ने साथ ही कहा कि टेस्ट फॉर्मेट में टीम इंडिया की अगुवाई करना किसी भी खिलाड़ी के लिए बहुत गर्व की बात होती है, कोई खिलाड़ी सपने में भी ऐसा नहीं सोचता है। अश्विन ने कहा कि खिलाडिय़ों को सपना होता है कि उन्हें जर्सी पहनकर मैदान पर उतरने का मौका मिले। अश्विन ने इस इंटरव्यू के दौरान बताया कि कपिल देव ने उनके लिए फूल भेजे थे और हाथ से लिखा एक खास मैसेज भेजा था। अश्विन ने इस मैच के दौरान कपिल देव को पीछे छोड़ा था। कपिल देव के खाते में 434 टेस्ट विकेट थे और अश्विन अब उनसे आगे निकल गए हैं।


Share