अगले 24 घंटों में तेज चक्रवात में बदलेगा ‘असानी’ -ओडिशा-बंगाल में भारी बारिश की चेतावनी

‘चक्रवात बुर्वी ’भारत आने के लिए तैयार
Share

भुवनेश्वर/ कोलकाता (एजेंसी)। साल के पहले चक्रवाती तूफान असानी के अगले 24 घंटों में और तेज होने की आशंका है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) का कहना है कि यह तूफान उत्तर-पश्चिम दिशा में 16 किमी प्रति घंटे की गति से आगे बढ़ रहा है। यह विशाखापत्तनम से दक्षिण-पूर्व दिशा में 970 किमी और 1,020 किमी की दूरी पर है। वहीं, पुरी से दक्षिण पूर्व दिशा में है। इस साइक्लोन ने शनिवार को अंडमान सागर से बंगाल की खाड़ी में एंट्री की, जिसके बाद मौसम विभाग ने ओडिशा और बंगाल में आंधी-बारिश की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग के मुताबिक, 10 मई को ओडिशा के पुरी-गंजाम के समुद्री तटों से तूफान टकरा सकता है। आईएमडी ने बताया तूफान के दौरान हवा की स्पीड 125 किमी प्रति घंटा तक जा सकती है। इधर, बिहार-झारखंड के कुछ जिलों में भी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

ओडिशा में 7.5 लाख लोगों को निकालने की तैयारी

ओडिशा स्पेशल रिलीफ कमिश्नर पीके जेना ने बताया कि सरकार समुद्री तटों पर रहने वाले करीब 7.5 लाख लोगों को सुरक्षित जगहों पर भेजने की तैयारी कर चुकी है। तूफान की स्पीड अधिक रहने का खतरा हुआ, तो लोगों को तुरंत दूसरी जगह ले जाया जाएगा।

‘तूफान का डायरेक्शन बदल सकता है’

आईएमडी कोलकाता के निदेशक जीके दास ने कहा है कि तूफान अभी बंगाल की खाड़ी में उच्च दबाव में है। आने वाले कुछ घंटों में तूफान का डायरेक्शन बदल भी सकता है और यह ओडिशा के बजाय बंगाल के किसी समुद्री तट से टकरा सकता है।

झारखंड-बिहार समेत इन राज्यों पर होगा असर

चक्रवाती तूफान असानी का असर ओडिशा के अलावा बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, आंध्र प्रदेश समेत कई राज्यों में देखने को मिल सकता है। मौसम विभाग ने इन राज्यों के लिए भी बारिश का यलो अलर्ट जारी किया है।

साल 2022 का पहला साइक्लोन

असानी इस साल का पहला चक्रवाती तूफान है। इससे पहले 2021 में 3 चक्रवाती तूफान आए थे। दिसंबर 2021 में साइक्लोन जावद आया था। वहीं, सितंबर 2021 में साइक्लोन गुलाब ने दस्तक दी थी, जबकि मई 2021 में साइक्लोन यास ने बंगाल, बिहार समेत कई राज्यों में कहर बरपाया था।


Share