सेना की ईयर ओपनिंग, साल के पहले 7 दिनों में ही 11 आतंकी ढेर

Share

 

श्रीनगर (एजेंसी)। कश्मीर में आतंकवाद एक बड़ी समस्या है। इसके खिलाफ सुरक्षाबलों की लगातार कार्रवाई जारी है। जम्मू-कश्मीर के आईजीपी विजय कुमार ने शुक्रवार को कहा कि नए साल में अब तक जम्मू-कश्मीर में 11 आतंकवादियों को मार गिराया गया है। उनमें से ज्यादातर जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा के शीर्ष कमांडर शामिल थे। बडगाम के जोलवा क्रालपोरा चादूरा इलाके में गुरूवार देर शाम को शुरू हुई मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने 3 आतंकियों को ढेर कर दिया। 2021 में 182 आतंकियों को मार गिराया था

शुक्रवार सुबह 3 आतंकी ढेर

आईजीपी कश्मीर ने कहा, हमें सूचना मिली थी कि जैश के 3 आतंकवादी छिपे हुए हैं। भारतीय सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने संयुक्त अभियान चलाया। फायरिंग शुरू हुई। उसके बाद सीआरपीएफ भी ऑपरेशन में शामिल हो गई। पूरी रात मुठभेड़ चली और शुक्रवार सुबह 3 आतंकवादी मारे गए।

उन्होंने कहा, उनमें से एक की पहचान श्रीनगर शहर के वसीम के रूप में हुई है। वह कई नागरिकों की हत्याओं में शामिल था। शेष दो आतंकवादियों की पहचान प्रक्रिया चल रही है। उनके पास से आठ पत्रिकाओं और कई दस्तावेजों के साथ तीन एके 57 राइफलें बरामद की गई हैं। जिसकी हम जांच कर रहे हैं।

मारे गए आतंकवादियों में जैश और लश्कर के लड़ाके

कुमार ने बताया कि इस नए साल में अब तक 11 आतंकवादी मारे गए हैं, जिनमें से अधिकांश जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी संगठनों के शीर्ष कमांडर हैं। उन्होंने कहा, इस नए साल में अब तक 11 आतंकवादी मारे गए हैं, जिनमें शुक्रवार को मारे गए लोग भी शामिल हैं। उनमें से ज्यादातर जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा के शीर्ष कमांडर थे।

हिट लिस्ट के सारे ढेर, अब नए आतंकियों की बारी

सुरक्षा बलों द्वारा तैयार की गई शहर के आतंकवादियों की ‘हिट लिस्ट’ के बारे में पूछे जाने पर, आईजीपी ने बताया कि सूची में शामिल सभी आतंकवादी मारे गए हैं। उन्होंने कहा, शहर की सूची में जिन सभी आतंकवादियों का जिक्र था, वे मारे गए हैं। हाल ही में एक नया आतंकवादी शामिल हुआ है, हम जल्द ही उसे भी मार गिराएंगे।

2021 में 182 आतंकियों का किया एनकाउंटर

इससे पहले केंद्र शासित प्रदेश के डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा था कि साल 2021 में 100 सफल ऑपरेशन हुए थे। इनमें कुल 182 आतंकियों को मार गिराया गया। उन्होंने इसकी भी जानकारी दी थी कि बीते साल 134 स्थानीय युवा आतंकवाद की राह पर चले गए थे। इनमें से 72 मारे गए हैं, जबकि 22 को गिरफ्तार किया गया। 2021 में ही कश्मीर में  यूएपीए के तहत 80 आतंकवादियों को गिरफ्तार किया और कुल 497 लोगों पर केस दर्ज हुआ था।


Share