डीआरडीओ के अर्जुन ने दागी लेजर-गाइडेड ऐंटी टैंक मिसाइल

डीआरडीओ के अर्जुन ने दागी लेजर-गाइडेड ऐंटी टैंक मिसाइल
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। चीन सीमा पर तनाव के बीच भारत रोज नए-नए हथियारों का टेस्ट कर रहा है। डिफेंस रिसर्च ऐंड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (डीआरडीओ) ने मंगलवार को दो खास टेस्ट किए। पहले तो अभ्यास का सफल फ्लाइट टेस्ट हुआ। फिर एमबीटी अर्जुन टैंक से लेजर-गाइडेड ऐंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का टेस्ट फायर किया गया। मिसाइल ने 3 किलोमीटर दूर टारगेट पर एकदम सटीक वार किया और उसे ध्वस्त कर दिया। एटीजीएम का टेस्ट अहमदनगर के आर्मर्ड कॉप्र्स सेंटर ऐंड स्कूल की केके रेंज में हुआ। रक्षा मंत्री ने इस उपलब्धि पर डीआरडीओ की पूरी टीम को बधाई दी है।

अभ्यास मिसाइल वेहिकल में क्या है खास?

डीआरडीओ ने मंगलवार को ही ‘अभ्यास’ हाई स्पीड एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट का बालासोर में टेस्ट किया था। इससे पहले मई 2019 में भी इसका सफल टेस्ट हो चुका है। यह मिसाइल वेहिकल 5 किलोमीटर की ऊंचाई पर उड़ सकता है। इसकी रफ्तार आवाज की रफ्तार से आधी है। इसमें 2जी क्षमता है और 30 मिनट तक ऑपरेट करने की क्षमता है। यह पूरी तरह से ऑटोनॉमस फ्लाइट लेने में सक्षम है।

राजनाथ सिंह ने डीआरडीओ साइंटिस्ट्स को सराहा

यह मिसाइल डीआरडीओ की आर्मामेंट रिसर्च ऐंड डेवलपमेंट इस्टैब्लिशमेंट के कैनन लॉन्ड मिसाइल डेवलपमेंट प्रोग्राम के तहत बनाई गई है। फिलहाल इसे अर्जुन टैंक से लॉन्च किया गया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एटीजीएम के सफल टेस्ट पर डीआरडीओ को बधाई दी है। उन्होंने कहा, भारत को टीम डीआरडीओ पर गर्व है जो लगातार भविष्य में आयात निर्भरता कम करने के लिए काम कर रही है।

डीआरडीओ के एटीजीएम में क्या है खास?

< एटीजीएम को कई प्लैटफॉर्म से लॉन्च किया जा सकता है। टेस्ट के लिए ‘अर्जुनÓ टैंक का इस्तेमाल हुआ है।

< हीट (हाई स्पीड एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट) वारहेड के जरिए एक्सप्लोसिव रिऐक्टिव आर्मर प्रोटेक्टेड वेहिकल्स को उड़ाती है।

< मिसाइल मॉडर्न टैंक्स से लेकर भविष्य के टैंक्स को भी नेस्तनाबूद करने में सक्षम।

< मिसाइल का हेड ऐसा है जो इसे मूविंग टारगेट को एंगेज करने की क्षमता देता है।

< एटीजीएम के जरिए कम ऊंचाई पर उडऩे वाले हेलिकॉप्टर्स को भी ढेर किया जा सकता है।

< भारत के पास ‘नाग’ जैसी गाइडेड मिसाइल पहले से है। फिलहाल उसे एनएएमआईसी मिसाइल कैरियर से छोड़ा जाता है। ‘नाग’ मिसाइल बड़े-बड़े टैंक्स को किसी भी मौसम में निशाना बना सकता है। इसमें इन्फ्रारेड भी है जो लॉन्च से पहले टारगेट को लॉक करता है।

 


Share