‘…जरूरत पड़ी तो बदलाव के लिए तैयार’, अनुराग ठाकुर ने हिंसा बंद करने की अपील के साथ कही बड़ी बात

'...जरूरत पड़ी तो बदलाव के लिए तैयार’, अनुराग ठाकुर ने हिंसा बंद करने की अपील के साथ कही बड़ी बात
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने अग्निपथ योजना के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे युवाओं से शनिवार हिंसा बंद करने और बातचीत के लिए आगे आने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि सरकार खुले मन से उनकी शिकायतें सुनने और जरूरत पड़ी तो बदलाव करने के लिए तैयार है। ठाकुर ने कहा कि अग्निपथ योजना नरेंद्र मोदी सरकार की ओर से भविष्य में देश को अधिक सुरक्षित बनाने और देश के युवाओं को अवसर प्रदान करने की दिशा में लिया गया एक ऐतिहासिक निर्णय है। ठाकुर ने कहा कि जो युवा देश की सेना में भर्ती होना चाहते हैं, वे कभी हिंसा का रास्ता नहीं अपनाएंगे। लेकिन किसी भी बदलाव रोकने के एजेंडे में लगे रहने वाले कुछ राजनीतिक दलों ने युवाओं को उकसाया है।

उन्होंने कहा, मैं देश के युवाओं से अनुरोध करना चाहता हूं कि हिंसा का मार्ग आपको कहीं नहीं ले जाएगा।लोकतंत्र में आपको विरोध करने का अधिकार है, लेकिन सरकारी संपत्ति में आग लगाने का नहीं। लोकतंत्र में हिंसा का कोई स्थान नहीं है। उन्होंने कहा, यदि आपके पास कोई बेहतर सुझाव है, तो आप लोकतांत्रिक तरीके से अपने विचार अपने मंच या मीडिया के सामने रख सकते हैं या हमें बता सकते हैं। सरकार खुले मन से विचार करने के लिए सदैव तैयार है।

अनुराग ठाकुर ने कहा है कि फौज से निकलने वाले युवाओं को देश के 15-16 लाख फिजिकल टीचर के पदों पर नौकरी मिल सकती है। केंद्रीय मंत्री ने युवाओं से किसी के बहकावे में भी नहीं आने के लिए कहा। वह बोले, युवाओं से अपील है कि हिंसा न करें और बहकावे में न आएं। अगर सरकार अपनी बात समझाने में विफल रही है तो वो आगे समझाएगी।

‘अग्निवीरों’ को मिलेगा 10 फीसदी आरक्षण

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को एक प्रस्ताव को मंजूरी दी जिसके तहत रक्षा मंत्रालय की नौकरियों में अग्निवीरों को 10 फीसदी आरक्षण मिलेगा। यह रिजर्वेशन भारतीय तटरक्षक बल और डिफेंस सिविलियन पोस्ट के अलावा 16 रक्षा क्षेत्र की सार्वजनिक कंपनियों में लागू होगा।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने शनिवार को घोषणा की है कि अग्निवीरों को अर्धसैनिक बलों और असम राइफल्स की नियुक्तियों में 10 फीसदी आरक्षण दिया जाएगा और आयु सीमा में भी राहत दी जाएगी। सेना में 4 साल की अपनी सेवाएं पूर्ण करने के बाद अग्निवीरों को यह लाभ मिलेगा।

फस्र्ट ‘अग्निवीर’ बैच को आयु सीमा में 5 साल की छूट

इसके अलावा अग्निवीरों की पहली बैच को आयु सीमा में 5 साल की छूट मिलेगी और अधिकतम उम्र 23 साल से बढ़कर 28 साल हो जाएगी। वहीं अग्निपथ योजना में अब अग्निवीरों की आयु सीमा को 21 वर्ष से बढ़ाकर 23 साल कर दी गई है।

बता दें कि इस अग्निपथ योजना को लेकर देश के कई हिस्सों में पिछले 2 दिनों में जबरदस्त हिंसा हुई। विपक्ष समेत अन्य राजनीतिक दलों ने भी सरकार से इस योजना को वापस लेने को कहा है। लेकिन सरकार का कहना है कि यह योजना काफी विचार-विमर्श के बाद लाई गई है।


Share