पायलट खेमे के एक और विधायक ने स्वर बदला

पायलट के अधीन रहे पीडब्ल्यूडी में गहलोत की बड़ी 'प्रशासनिक सर्जरी
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राज्य में मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चा के बीच सरदारशहर से वरिष्ठ कांग्रेस विधायक भंवरलाल शर्मा ने मंगलवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सराहना करते हुए उनके नेतृत्व में आस्था जताई। उन्होंने कहा कि राज्य में सियासत की ‘दूसरी लहर’ धीरे- धीरे ठंडी पड़ जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि गहलोत मुख्यमंत्री होने के नाते वरिष्ठ नेता हैं और पायलट सहित सभी को उनको नेता मानना पड़ेगा।

उल्लेखनीय है कि लगभग एक साल पहले गहलोत के नेतृत्व के खिलाफ बगावती रूख अपनाने वाले 19 विधायकों में शर्मा भी थे। शर्मा ने यहां संवाददाताओं से कहा, सचिन पायलट को नेता मानता हूं, अशोक गहलोत जी उनके ऊपर हैं। मुख्यमंत्री हैं तो उनको नेता मानना ही पड़ेगा। सचिन जी को भी उनको नेता मानना पड़ेगा। शर्मा का यह बयान ऐसे समय में आया है जबकि राज्य में मंत्रिमंडल विस्तार व राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर सरगर्मी है।

सियासत की दूसरी लहर   ठंडी पड़ जाएगी

राज्य में सियासत की ‘दूसरी लहर’ से नुकसान के बारे में उन्होंने कहा, यह दूसरी लहर धीरे- धीरे ठंडी पड़ जाएगी। कुछ विधायकों के मंत्री बनने की इच्छा पर उन्होंने कहा, इनकी तो मंत्री बनने की इच्छा है, मेरी तो मुख्यमंत्री बनने की इच्छा थी लेकिन कई बार इच्छाओं का दमन करना पड़ता है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले पायलट खेमे के विधायक इंद्राज गुर्जर और पी आर मीणा भी विकास कार्यों के लिए मुख्यमंत्री गहलोत की प्रशंसा कर चुके हैं। मुख्यमंत्री गहलोत की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा, कोरोना के जो हालात हैं मुख्यमंत्री ने अच्छे से नियंत्रण किया। मेरी समझ में कोरोना का मुकाबला करने में राजस्थान नंबर वन है। सभी के लिए नि:शुल्क टीकाकरण की घोषणा करवाने के लिए भी मुख्यमंत्री ने संघर्ष किया व इसका श्रेय उनको जाता है।

 


Share