आंध्र प्रदेश में एलुरु के माध्यम से फैली एक अनजान बीमारी से एक मृत, 315 अस्पताल में भर्ती

Andhra Pradesh: At least one dead, 315 hospitalised after undiagnosed illness spreads through Eluru
Share

पिछले कुछ दिनों में आंध्र प्रदेश के एलुरु शहर के एक सरकारी अस्पताल में कम से कम एक व्यक्ति की मौत हो गई और 315 से अधिक लोगों को भर्ती किया गया।

शनिवार आधी रात को रोगियों की संख्या 55 थी और रविवार सुबह तक बढ़कर 170 हो गई।  यह रविवार शाम तक 270 और मध्य रात्रि 315 तक चढ़ गया।  रिपोर्टों में यह भी कहा गया है कि 50 और लोग निजी अस्पतालों में बीमारी का इलाज करा रहे थे।

डॉक्टरों ने कहा कि बीमारी से पीड़ित लोगों में सिरदर्द, चक्कर आना और मिर्गी जैसे लक्षण विकसित हुए हैं।अधिकांश मामले कोठापेटा, कोबारी थोटा, अरुंधतिपेटा और तोरपु विदेह हैं।

रविवार शाम को एक 45 वर्षीय व्यक्ति की बीमारी के कारण मौत हो गई। उसकी पहचान शहर के विद्यानगर इलाके के श्रीधर के रूप में हुई।  डॉक्टरों ने कहा कि श्रीधर अन्य लक्षणों से मर गया क्योंकि वह अपने मिर्गी के लक्षणों से उबर चुका था।  पुलिस ने मृतक का पोस्टमार्टम करवाया है।

मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने उपमुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री अल्ला काली कृष्ण श्रीनिवास ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।  उन्होंने कहा कि 170 लोगों को छुट्टी दे दी गई है और घर-घर सर्वेक्षण किया जा रहा है।

रेड्डी उन अस्पतालों का दौरा करेंगे जहांमरीजों को भर्ती किया गया था।  वह जिले के अधिकारियों के साथ आज बैठक भी करेंगे।

जिला प्रशासन ने एलुरु में शैक्षणिक संस्थानों में अवकाश घोषित किया है।  एलुरु नगर निगम कार्यालय में एक 24×7 नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है।  दूध के नमूने यादृच्छिक रूप से एकत्र किए जा रहे हैं और विजयवाड़ा में जांच के लिए भेजे गए हैं।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, मंगलगिरि व राष्ट्रीय पोषण संस्थान, हैदराबाद के वैज्ञानिक और भारतीय रासायनिक प्रौद्योगिकी संस्थान के डॉक्टरों की एक टीम को बीमारी के स्रोत का पता लगाने के लिए भेजा गया है।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि वे रक्त परीक्षण और कम्प्यूटेड टोमोग्राफी या मस्तिष्क के सीटी स्कैन के माध्यम से बीमारी के कारण का पता लगा सकते हैं। डॉक्टरों ने यह भी कहा कि सभी के कोविड़ -19 परीक्षण भी नकारात्मक थे।

जिला कलेक्टर शुक्ला ने कहा कि आपातकालीन नंबर 9154565529 और 9154592617 स्थापित किए गए हैं।  उन्होंने कहा, “जीजीएच [गवर्नमेंट जनरल हॉस्पिटल] के अधीक्षक एवीआर मोहन और हॉस्पिटल सर्विसेज के डिस्ट्रिक्ट कोऑर्डिनेटर डॉ मोहन राव चौबीसों घंटे स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।”

जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुनंदा ने कहा कि रिकवरी दर अच्छी हैं और घबराने की जरूरत नहीं हैं।


Share