कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच PM मोदी ने तोड़ी चुप्पी -‘जिस दर्द से देशवासी गुजरे, उसे महसूस कर रहा हूं’

11 को सभी सीएम के साथ बैठक करेंगे मोदी
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर पर कहा कि वे देशवासियों की तकलीफ महसूस कर रहे हैं। किसान सम्मान निधि की आठवीं किस्त जारी करते हुए प्र.म. ने कहा, 100 साल बाद आई इतनी भीषण महामारी कदम-कदम पर दुनिया की परीक्षा ले रही है। उन्होंने कोविड-19 को ‘अदृश्य दुश्मनÓ बताते हुए कहा कि हम बहुत से करीबियों को खो चुके हैं।

प्र.म. मोदी ने लोगों से जल्द से जल्द कोविड का टीका लगवाने की अपील की। उन्होंने कहा, बचाव का एक बहुत बड़ा माध्यम है, कोरोना का टीका। केंद्र सरकार और सारी राज्य सरकारें मिलकर ये निरंतर प्रयास कर रही हैं कि ज्यादा से ज्यादा देशवासियों को तेजी से टीका लग पाए। प्र.म. ने कहा, देशभर में अभी तक करीब 18 करोड़ वैक्सीन डोज दी जा चुकी है।

प्र.म. मोदी ने आगे कहा कि देशभर के सरकारी अस्पतालों में मुफ्त टीकाकरण किया जा रहा है। इसलिए जब भी आपकी बारी आए तो टीका जरूर लगाएं। ये टीका हमें कोरोना के विरूद्ध सुरक्षा कवच देगा, गंभीर बीमारी की आशंका को कम करेगा।

‘दवाओं की कालाबाजारी रोकें राज्य सरकारें’

प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार कोविड अस्पताल और कोविड केयर सेंटर बनाने के लिए समर्पित है। उन्होंने कहा, लेटेस्ट तकनीक के साथ ऑक्सिजन प्लांट लगाए जा रहे हैं। सेना पूरी ताकत के साथ इस मुश्किल घड़ी में ऑक्सिजन सप्लाई सुनिश्चित करने में लगी हुई है। प्र.म. मोदी ने कहा,  देश का फार्मा सेक्टर बड़े पैमाने पर दवाएं बना रहा है। मैं राज्य सरकारों से अपील करता हूं कि वे दवाओं और मेडिकल सप्लाई की कालाबाजारी रोकने के लिए सख्त कानून बनाएं।

मोदी ने कहा कि कोविड-19 अब ग्रामीण इलाकों में भी फैल रहा है। उन्होंने ग्राम पंचायतों से अपने-अपने इलाकों में जागरूकता और सैनिटेशन केा बढ़ावा देने को कहा। मोदी ने कहा कि भारत वो देश नहीं जो मुश्किल हालात में उम्मीद खो दे। उन्होंने कहा, मुझे पूरा विश्वास है कि हम इस चुनौती से जरूर निपटेंगे। प्र.म. मोदी ने लोगों से ठीक से मास्क पहनने की अपील की। उन्होंने कहा कि मेडिकल सहायता लेने में देर न करें। जैसे ही लक्षण दिखाई दें, फौरन डॉक्टर से संपर्क करें।

बंगाल के किसानों को पहली बार मिली निधि

इससे पहले, किसान सम्मान निधि की 8वीं किस्त जारी करते हुए प्र.म. मोदी ने कहा कि पश्चिम बंगाल के किसानों को पहली बार इस सुविधा का लाभ मिलना शुरू हुआ है। उन्होंने कहा, आज अक्षय तृतिया का पावन पर्व है, कृषि के नए चक्र की शुरूआत का समय है और आज ही करीब 19 हजार करोड़ रूपए किसानों के बैंक खातों में सीधे ट्रांसफर किए गए हैं। इसका लाभ करीब-करीब 10 करोड़ किसानों को होगा।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना के तहत 2-2 हजार रूपये की किस्त जारी करते हुए प्र.म. नरेंद्र मोदी ने कोरोना काल की तकलीफों का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि आज पूरी मानवता का एक अदृश्य शत्रु से मुकाबला है। उन्होंने कोरोना वायरस के खिलाफ देश में जारी टीकाकरण अभियान का भी जिक्र किया। इस पर कांग्रेस पार्टी लाल हो गई है। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने ट्विटर के जरिए प्रधानमंत्री पर निशाना साधा है। पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी एवं पूर्व केंद्रीय मंत्रियों जयराम रमेश और पी. चिदंबरम ने ट्वीट किए।

जयराम के निशाने पर आए प्र.म.

जयराम रमेश ने प्रधानमंत्री के इस वक्तव्य पर कि ‘हमारा मुकाबला एक अदृश्य दुश्मन से हैÓ, जयराम रमेश ने कहा, दुश्मन अदृश्य हो सकता है, लेकिन शासन संचालन में आपकी असफलता बिल्कुल साफ झलक रही है।

फिर बरसे राहुल गांधी

वहीं, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वैक्सीन पॉलिसी को लेकर केंद्र की आलोचना की। उन्होंने कहा कि केंद्र ऐसी गलतियां कर रहा है जिसे भारत झेल नहीं

पाएगा। उन्होंने वैक्सीन के वितरण की जिम्मेदारी राज्यों को दिए जाने का सुझाव दिया।

चिदंबरम ने केंद्र सरकार को घेरा

उधर, पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता पी. चिदंबरम ने वैक्सीन की कीमत सुनिश्चित नहीं करने पर नाराजगी जताई और केंद्र सरकार को गरीब विरोधी करार दे दिया। उन्होंने लिखा, गरीबों को टीका लगवाने के लिए अनिश्चित इंतजार करना होगा। यह केंद्र सरकार

के गरीब विरोधी और कॉर्पोरेट हितैषी होने का एक और प्रमाण है। टीकों की एक कीमत तय करने की उसकी अनिच्छा से इसकी पुष्टि होती है। दो कंपनियां बंपर लाभ कमा रही हैं।


Share