अमरिंदर सिंह ने भाजपा में शामिल होने को लेकर दिया ये बड़ा बयान

अमरिंदर सिंह ने भाजपा में शामिल होने को लेकर दिया ये बड़ा बयान
Share

अमरिंदर सिंह ने भाजपा में शामिल होने को लेकर दिया ये बड़ा बयान- पंजाब के मुख्यमंत्री के इस्तीफे से कांग्रेस नेता कैप्टन अमरिंदर सिंह को गहरा धक्का लगा है। मुख्यमंत्री का पद छोड़ने के बाद कल उन्होंने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की। बाद में आज, अमरिंदर सिंह ने घोषणा की कि वह कांग्रेस छोड़ देंगे। हालांकि, अमरिंदर सिंह ने यह भी घोषणा की कि वह भाजपा में शामिल नहीं होंगे। तो अमरिंदर सिंह वास्तव में क्या फैसला करेंगे?

अमरिंदर सिंह ने एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में इस बात की घोषणा की। मैं पहले ही पूरी स्थिति बता चुका हूं। मैं पहले ही स्पष्ट कर चुका हूं कि मैं इस तरह का अपमान बर्दाश्त नहीं करूंगा। अमरिंदर सिंह ने स्पष्ट किया कि वह भाजपा में शामिल नहीं होंगे, उन्होंने कहा कि जिस तरह से उनके साथ व्यवहार किया गया वह सही नहीं था।

इसके बाद की अपने इस्तीफे की घोषणा

कांग्रेस पार्टी ने विधायकों की बैठक बुलाई है। उस समय मुझे इसकी सूचना दी गई थी। तभी मैंने अपने इस्तीफे की घोषणा की। उन्होंने कहा, “अगर कोई मुझ पर विश्वास नहीं करता है, तो कांग्रेस में रहने का क्या मतलब है?”

सिद्धू टीम के खिलाड़ी नहीं हैं: अमरिंदर सिंह

उन्होंने नवज्योत सिंह सिद्धू पर भी प्रतिक्रिया दी।  नवज्योत सिंह सिद्धू टीम के खिलाड़ी नहीं हैं। पंजाब कांग्रेस को अध्यक्ष पद के लिए एक टीम प्लेयर की जरूरत है। उन्होंने यह भी कहा कि पंजाब में कांग्रेस की लोकप्रियता घट रही है और आम आदमी पार्टी का ग्राफ बढ़ रहा है। इस बार पंजाब विधानसभा चुनाव अलग होगा। पंजाब में कांग्रेस और अकाली दल हैं।  लेकिन अब जब आम आदमी पार्टी का ग्राफ भी बढ़ रहा है तो हमारे सामने भी एक चुनौती होगी, उन्होंने स्पष्ट किया।

मैं पंजाब का मुख्यमंत्री नहीं हो सकता, लेकिन पंजाब अभी भी मेरा है। इसलिए मैंने अमित शाह और केंद्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से मुलाकात की थी।

शाह से मिले अमरिंदर गिल

इस बीच, अमरिंदर सिंह ने शाम को भाजपा नेता अमित शाह से मुलाकात की, जब उन्होंने जाखड़ को कल सुबह प्रदेश अध्यक्ष का पद देने की मांग की। सूत्रों ने बताया कि सिंह भाजपा में शामिल होने जा रहे हैं और उन्हें केंद्रीय कृषि मंत्री का पद देने मिल सकता हैं।

कहीं ये सीएम के लिए सेटिंग?

इस बीच, अगर अमरिंदर सिंह भाजपा में शामिल होते हैं, तो उन्हें केंद्र में कृषि मंत्री का पद दिया जा सकता है। पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले उन्हें यह पद दिया जा सकता है। साथ ही भाजपा सिंह के नेतृत्व में उन्हें केंद्रीय मंत्री का पद देकर राज्य में चुनाव लड़ सकती है। साथ ही अमरिंदर सिंह को बीजेपी का मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार भी घोषित किया जा सकता है। जानकारों का कहना है कि उन्होंने सिंह के लिए राज्य के मुख्यमंत्री बनने के लिए मंच तैयार किया होगा।


Share