मुख्यमंत्री निवास पर सर्वदलीय बैठक, उदयपुर की घटना को बताया आतंकी वारदात, राजनीतिक विचारधारा छोड़कर शांति व भाईचारा कायम रखें : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री निवास पर सर्वदलीय बैठक, उदयपुर की घटना को बताया आतंकी वारदात, राजनीतिक विचारधारा छोड़कर शांति व भाईचारा कायम रखें : मुख्यमंत्री
Share

जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों ने मौन रखकर दी श्रद्धांजलि

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों और प्रदेशवासियों से शांति बनाए रखने में सहयोग की अपील की। उन्होंने कहा कि राजस्थान साम्प्रदायिक सौहार्द और शांतिपूर्ण प्रदेश रहा है। गौरवशाली सांझी परम्परा को कायम रखना हम सबकी अहम जिम्मेदारी है। उदयपुर की घटना धार्मिक नहीं, बल्कि आतंकी घटना है। अपराधियों के तार गैरकानूनी गतिविधियों में लिप्त अंतर्राष्ट्रीय संगठनों से मिले हैं। राज्य सरकार द्वारा बिना विलंब अपराधियों को कठोर सजा दिलाई जाएगी। हम सभी को एकजुट होकर शांतिपूर्वक तरीके से ऐसी घटनाओं की निंदा करनी चाहिए। गहलोत बुधवार शाम मुख्यमंत्री निवास पर आयोजित सर्वदलीय बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि तनावपूर्ण माहौल में दलों को राजनैतिक विचारधारा को छोड़कर समाज में शांति एवं भाईचारा कायम रखने के प्रयास कराने चाहिए। आमजन को अपराधियों तथा धमकियों से डऱने की जरूरत नहीं है, राज्य सरकार हर स्थिति में उनके साथ खड़ी है। गहलोत ने कहा कि राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने मामला दर्ज किया है। जांच में राजस्थान एसओजी और एटीएस पूरा सहयोग करेगी। उन्होंने राजस्थान पुलिस को बधाई देते हुए कहा कि पुलिस टीम ने त्वरित गिरफ्तारी कर उदाहरण पेश किया है। उन्होंने भीम में पुलिसकर्मी से मारपीट की घटना की निंदा की। मृतक कन्हैयालाल के परिवार के साथ पूरे प्रदेशवासी खड़े हैं। आश्रित परिवार को 50 लाख रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

शांति बनाए रखने में राजस्थान बन रहा उदाहरण

विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सी.पी. जोशी ने कहा कि दलों के प्रतिनिधि अपने बूथ लेवल कार्यकताओं को शांति बनाए रखने का संदेश दे। सभी को शांति कायम कर देश में राजस्थान का उदाहरण पेश करना चाहिए। उन्होंने साइबर क्राइम रोकने, सोशल मीडिया पर कंटेंट पर निगरानी रखने और मजबूत साइबर इंटेलिजेंस व्यवस्था बनाने का सुझाव दिया।

प्रदेशवासी संकल्पबद्ध होकर सौहार्दपूर्ण विरासत को सहेजें

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेशाध्यक्ष श्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि अमानवीय घटना में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई की है। अब प्रदेशवासी संकल्पबद्ध होकर राज्य की सौहार्दपूर्ण विरासत को सहेजने के लिए आगे आए। राजनैतिक दलों का दायित्व है कि ऐसे समय में राजनीति नहीं करें, सरकार के साथ मजबूती और मुस्तैदी के साथ खड़े रहें।

शांति कायम रखें, अपराधियों को मिलेगी कठोर सजा

गृह राज्यमंत्री राजेंद्र सिंह यादव ने प्रदेशवासियों से शांति कायम रखने की अपील की। उन्होंने कहा कि राजनैतिक दलों को एकजुट होकर प्रदेशवासियों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील करनी चाहिए।

घटना किसी धर्म, जाति व समुदाय से जुड़ी नहीं है

राष्ट्रीय लोकदल के प्रतिनिधि व तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने कहा कि इस आंतकी घटना को किसी भी जाति, धर्म या समुदाय से जोड़कर ना देखा जाए। सीपीआई (एम) के प्रतिनिधि  बलवान पूनिया ने कहा कि पार्टी ऐसी आतंकी हरकत की कड़ी निंदा करती है।  भारतीय जनता पार्टी के प्रतिनिधि व पूर्व मंत्री अरूण चतुर्वेदी ने कहा कि सरकार को इन्हें शीघ्र सजा दिलाकर राजस्थान को मॉडल स्टेट बनाने के प्रयास करना चाहिए तभी प्रदेश में अपराध रूकेगा।

सर्वदलीय बैठक में पारित प्रस्ताव

उदयपुर के धानमंडी थाना क्षेत्र में हुई  कन्हैयालाल साहू की हत्या की कड़े शब्दों में निन्दा करते हैं। यह एक अमानवीय कृत्य है एवं मानवता पर कलंक के समान है। एक सभ्य समाज में इस तरह के कृत्यों का कोई स्थान नहीं है। सभी राजनैतिक दल एकराय होकर इस कृत्य के दोषियों को न्यायसंगत तरीके से कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग करते हैं। सभी राजनैतिक दल प्रदेश की जनता से अपील करते हैं कि शांति एवं सद्भाव बनाये रखें। इस परिस्थिति में संयम से काम लेना ही उचित तरीका है। पूरे मामले की जांच राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) द्वारा की जा रही है एवं राजस्थान पुलिस का आतंकवाद निरोधी दस्ता (एटीएस) एवं स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) द्वारा एनआईए के साथ समन्वय किया जा रहा है।


Share