60 फीट क्षमता वाला आकोदड़ा बांध ओवरफ्लो, अब मानसी वाकल को भरेगा, जयसमंद-बड़ी का भी जलस्तर बढ़ा, देवास अब 2.5 फीट खाली

Akodara Dam overflow with 60 feet capacity
Share

उदयपुर (नगर संवाददाता)। उदयपुर में पिछले दो दिनों में बरसात का दौर थम गया है। मगर यहां के बांधों में पानी की आवक अब भी तेजी से हो रही है। पिछले दिनों कोटड़ा, जयसमंद, झाड़ोल इलाके में हुई अच्छी बरसात से यहां के प्रमुख बांधों में काफी पानी आया है। लगातार आवक से शनिवार सुबह उदयपुर का प्रमुख बांध आकोदड़ा ओवरफ्लो हो गया। 60 फीट से ज्यादा क्षमता वाले इस बांध पर लगभग 1 फीट की चादर चल रही है। यह दो साल बाद ओवरफ्लो हुआ है।

अब आकोदड़ा का पानी मानसी वाकल को भरेगा

आकोदड़ा के ओवरफ्लो होने के बाद उदयपुर में अब सिर्फ 4 प्रमुख बांध रह गए हैं जिनका लबालब होना बाकी है। आकोदड़ा के ओवरफ्लो होने से अब इसका पानी मानसी वाकल डैम में जाएगा। मानसी वाकल बांध अभी फिलहाल 4 मीटर खाली है। मानसी वाकल में पहले से मादड़ी बांध से आवक हो रही है। वहीं अब आकोदड़ा का पानी आने से इसके भी भरने की पूरी संभावना है। मानसी वाकल बांध से बड़ी मात्रा में उदयपुर शहर के लिए पीने का पानी आता है।

देवास बांध अब महज 2.5 फीट खाली

इसी तरह जयसमंद झील में भी लगातार आवक हो रही है। इसका जलस्तर बढ़कर 5.80 मीटर पर पहुंच गया है। वहीं देवास प्रथम बांध में भी आवक होने से 34 फीट क्षमता वाला यह बांध 31.4 फीट पर पहुंच गया है। देवास में एक और अच्छी बरसात से यह बांध छलक जाएगा। इधर बड़ी झील में भी पानी की आवक हुई है। मगर 32 फीट क्षमता वाली इस झील का जलस्तर फिलहाल 21.3 फीट तक ही पहुंचा है। इनके अलावा सभी प्रमुख बांध ओवरफ्लो होकर लबालब हो गए हैं।

22 से फिर शुरू होगी बरसात

मौसम विभाग की मानें तो 22 अगस्त से मेवाड़ में मानसून का छठा दौर शुरू होगा। अगले दो दिन बरसात की संभावनाएं नहीं है। पिछले 24 घंटे में कोटड़ा में 5 मिमी और जयसमंद और ओगणा में 2-2 मिमी बरसात हुई। इसके अलावा कहीं पानी नहीं बरसा। माना जा रहा है कि मानसून के अगले दौर की बरसात से देवास और मानसी वाकल बांध भी लबालब हो सकते हैं। वहीं जयसमंद और बड़ी झील को भरने में फिलहाल समय लग सकता है।


Share