अखिलेश यादव को मिला कांग्रेस का समर्थन? करहल में घोषित प्रत्याशी का नहीं कराया नामांकन, शिवपाल को भी वाकओवर

Akhilesh Yadav got Congress support?
Share

लखनऊ। कांग्रेस ने यूपी चुनाव में अचानक एक बड़ा फैसला लेकर चौंका दिया है। मैनपुरी की करहल से उतरे सपा प्रमुख अखिलेश यादव को कांग्रेस ने वाकओवर दे दिया है। करहल से घोषित की गई प्रत्याशी का कांग्रेस ने नामांकन नहीं कराया है। इसे अखिलेश का कांग्रेस को समर्थन माना जा रहा है। यहीं नहीं, कांग्रेस ने इटावा की जसवंतनगर सीट से उतरे सपा के शिवपाल यादव के खिलाफ भी अपने प्रत्याशी का नामांकन नहीं कराया है।

कांग्रेस ने पहली सूची में करहल से ज्ञानवती यादव और मैनपुरी सदर विधानसभा क्षेत्र से जिलाध्यक्ष विनीता शाक्य को प्रत्याशी घोषित किया था। ज्ञानवती को टिकट दिए जाने का कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने विरोध करके उनके पुतले तक फूंक दिए थे।

समाजवादी पार्टी ने जब करहल विधानसभा क्षेत्र से पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को प्रत्याशी बनाया तो कांग्रेस हाईकमान ने अपना निर्णय बदल दिया।

कांग्रेस के प्रदेश महासचिव प्रकाश प्रधान ने कहा कि समाजवादी पार्टी ने अमेठी और रायबरेली में कांग्रेस प्रत्याशियों के सामने उम्मीदवार नहीं उतारे हैं।

अखिलेश के सामने भाजपा ने केंद्रीय मंत्री को उतारा

अखिलेश यादव पहली बार करहल सीट से विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने सोमवार को मैनपुरी पहुंचकर नामांकन दाखिल किया। अखिलेश के सामने भाजपा ने आगरा से सांसद और केंद्रीय राज्यमंत्री प्रोफेसर एसपी सिंह बघेल को चुनाव मैदान में उतारकर सबको चौंका दिया है। बघेल ने भी सोमवार को करहल सीट से भाजपा प्रत्याशी के रूप में नामांकन दाखिल किया।


Share