अखिलेश ने चुनावों में हार के लिए आयोग के सिर फोड़ा ठीकरा, ‘यूपी चुनाव और लोस उप चुनाव में हुई बेईमानी’

अखिलेश ने चुनावों में हार के लिए आयोग के सिर फोड़ा ठीकरा, 'यूपी चुनाव और लोस उप चुनाव में हुई बेईमानी’
Share

लखनऊ (एजेंसी)। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ने हार के बाद अब तक समीक्षा बैठक नहीं की है। चुनाव परिणाम आने के बाद अखिलेश यादव इस रिजल्ट में जीत देख रहे थे। कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ा रहे थे। वहीं, अब उन्होंने चुनाव आयोग को इस रिजल्ट को लेकर सीधे-सीधे जिम्मेदार ठहरा दिया है। न्यूज एजेंसी को भाषा को दिए इंटरव्यू में पहली बार अखिलेश यादव ने आजमगढ़ और रामपुर लोकसभा चुनाव में हार के कारणों पर बात की। इसमें उन्होंने यूपी चुनाव 2022 को भी जोड़ा और इस हार के लिए आयोग की बेईमानी को जिम्मेदार ठहराया। आयोग के साथ-साथ अखिलेश यादव ने भाजपा को भी बेईमान करार दिया। अखिलेश 2024 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटे हैं। ऐसे में वे अपने कार्यकर्ताओं और जनता को साफ संदेश देने के मूड में है कि भारतीय जनता पार्टी की जीत के पीछे सरकारी मशीनरी काम कर रही है। इसके लिए वे अपने पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश में हैं। ऐसे में उन्होंने चुनावी समीक्षा की बात पर साफ किया कि चाहे विधानसभा चुनाव हो या दो सीटां पर हुआ लोकसभा उप चुनाव समाजवादी पार्टी की हार का कारण चुनाव आयोग रहा। भाजपा की ‘बेईमानी’ के कारण उन्हें हार मिली। अखिलेश यादव ने दावा किया कि अगर आयोग ने ईमानदारी से काम किया होता तो नतीजे कुछ और ही होते।

संस्थानों की निष्पक्षता पर उठाए सवाल : सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि उनकी पार्टी ने राज्य का पिछला विधानसभा चुनाव लोकतंत्र बचाने की अपील के साथ लड़ा था। नतीजा सबके सामने है। उन्होंने कहा कि देश में अब कोई भी संस्थान निष्पक्ष नहीं रह गया है। सरकार दबाव डालकर इन संस्थानों से मनमाफिक काम कराती है। अखिलेश यादव ने चुनाव आयोग पर करारा हमला बोला। उन्होंने आरोप लगाया कि आयोग ने चुनावों में बहुत बेईमानी की। मतदाता सूची से बड़े पैमाने पर नाम काट दिए गए। रामपुर और आजमगढ़ में लोकसभा उप चुनाव में हार का कारण गिनाते हुए उन्होंने यह दावा किया।


Share