कृषि को उद्योग का दर्जा दिया जाना चाहिए : भूपेन्द्र हुड्डा

Agriculture should be given industry status: Bhupendra Hooda
Share

किसान मर रहा है और सरकार देख रही

उदयपुर. नगर संवाददाता & हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि देश में कृषि को उद्योग का दर्जा दिया जाना चाहिए। किसानों की आय बढ़ाने के लिए कांग्रेस पूरा प्रयास करेगी और किसानों का कर्जा पूरी तरह से माफ होना चाहिए।

नव सकंल्प शिविर के दूसरे सत्र में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र हुड्डा ने प्रेस कांफ्रेेस की। इममें उन्होंने कहा कि किसानों की आय कैसे बढ़े इस पर सरकार को फोकस करना चाहिए। कृषि को उद्योग का दर्जा दिया जाना चाहिए। किसानों की जमीन पर कर्जा माफी का नहीं कर्जा मुक्ति पर चर्चा की गई। देश में स्वामीनाथन फार्मूले को लागू करना होगा। किसान-फसल बीमा का सरलीकरण किया जाना चाहिए। इस मौके पर नाना पटौले ने कहा कि मनरेगा के माध्यम से कम लागत में अच्छी आय पर चर्चा होनी चाहिए। साथ ही कहा कि किसानों को कर्जा ना लेना पड़े ऐसी स्कीम लागू की जानी चाहिए। इस मौके पर पीएस सिंहदेव ने कहा कि न्यूतम समर्थन मूल्य, सबसिडी, किसान का कर्जा माफ, आधा बिजली बिल होना चाहिए, इस पर चर्चा की गई।

इस मौके पर प्रताप सिंह बाजवा ने कहा कि लीगल गारंटी पर न्यूतम समर्थन मूल्य के साथ-साथ देश से बीज निर्यात पर रोक लगनी चाहिए। किसानों को अधिक बिजली मिले इस पर भी सरकार को फोकस करना चाहिए। इस मौके पर अखिलेश प्रताप सिंह ने कहा कि लाल बहादुर शास्त्री ने जय जवान, जय किसान का नारा दिया था, पर इस सरकार ने मरे जवान, मरे किसान का नारा दिया है। साथ ही कहा कि हम सरकार में आने पर शास्त्री के नारे को फिर से चरितार्थ करेंगे, जिससे किसानों में उत्साह का संचार होगा। इस मौके पर शक्ति सिंह ने कहा कि किसानों को महत्व मिलना चाहिए वह देश का अन्नदाता है। किसानों का कल्याण कैसे हो उस पर भी चर्चा हो रही है।


Share