‘यास’ के बाद अब ‘गुलाब’ की दस्तक- नौसेना के कई जहाज और विमान अलर्ट पर

'यास' के बाद अब 'गुलाब' की दस्तक- नौसेना के कई जहाज और विमान अलर्ट पर
Share

भुवनेश्वर (एजेंसी)। ओडिशा में चक्रवात ‘गुलाब’ को लेकर राहत व बचाव कार्य के लिए भारतीय नौसेना के जहाजों और विमानों को स्टैंडबाय पर रखा गया है। चक्रवात को लेकर भारतीय नौसेने ने कहा है कि वह तूफान पर करीब से नजर रखे हुए हैं। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि गुलाब के ओडिशा के गंजम जिले के गोपालपुर और आंध्र प्रदेश के कलिंगपट्टनम के बीच मध्यरात्रि के करीब पार करने की संभावना है।

एक आधिकारिक बयान के अनुसार, विशाखापट्टनम में पूर्वी नौसेना कमान और ओडिशा के प्रभारी नौसेना अधिकारियों ने चक्रवात के प्रभावों से निपटने के लिए पूरी तैयारी कर ली है। इसमें कहा गया है कि नौसेना आवश्यकतानुसार सहायता प्रदान करने और चक्रवाती तूफान की गति की बारीकी से निगरानी करने के लिए राज्य प्रशासन के साथ लगातार संपर्क में है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया कि मई में तबाही मचाने वाले ‘यास’ तूफान के बाद चार महीनों में राज्य में आया यह दूसरा तूफान है।

नेवी के दो जहाज मानवीय सहायता और आपता राहत सामग्री के साथ समुद्र में डटे हुए हैं। साथ डॉक्टरों का दल भी है जो ज्यादा प्रभावित क्षेत्रों में लोगों की सहायता करेंगे। अधिकारियों ने कहा कि चक्रवात से तत्काल सहायता प्रदान करने के लिए बाढ़ राहत दल और गोताखोरों  की टीम विशाखापट्टनम में अलर्ट पर है।

बयान में कहा गया है कि विशाखापट्टनम में आईएनएस देगा और चेन्नई के पास आईएनएस राजाली में सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करने, हताहतों को निकालने और राहत सामग्री के हवाई सर्वेक्षण करने के लिए विमान तैयार रखे गए हैं। वहीं, इस बीच, ईस्ट कोस्ट रेलवे ने गुलाब चक्रवात के कारण 34 जोड़ी ट्रेनों को रद्द कर दिया है। इसके अलावा 13 ट्रेनों के समय में बदलाव किया गया है और कम से कम 17 ट्रेनों को डायवर्ट किया है।


Share