टेस्ट के बाद वनडे सीरीज में भी भारतीय टीम पस्त,  दूसरे वनडे में भारत को 7 विकेट से हरा दक्षिण अफ्रीका ने सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बनाई

After the Test, the Indian team was also battered in the ODI series, defeated India by 7 wickets in the second ODI, South Africa took an unassailable 2-0 lead in the series.
Share

पार्ल (एजेंसी)। दक्षिण अफ्रीका ने पार्ल के बोलैंड पार्क में खेले गए दूसरे वनडे में भारत को सात विकेट से हरा दिया है। टेस्ट सीरीज के भारतीय टीम वनडे सीरीज में भी पस्त हो गई। टेस्ट सीरीज दक्षिण अफ्रीकी टीम ने 2-1 से जीती थी। वहीं, दूसरे वनडे में जीत के साथ दक्षिण अफ्रीका ने तीन मैचों की वनडे सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बना ली है। आखिरी वनडे 23 जनवरी को केपटाउन में खेला जाएगा।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम ने 50 ओवर में छह विकेट के नुकसान पर 287 रन का स्कोर खड़ा किया। भारत की ओर से कप्तान केएल राहुल ने 55 रन और ऋषभ पंत ने 85 रन की पारी खेली। जवाब में दक्षिण अफ्रीकी टीम ने 48 ओवर में तीन विकेट के नुकसान पर 288 रन बनाकर मैच जीत लिया। टीम की ओर से जानेमन मलान ने 91 रन और क्विंटन डिकॉक ने 78 रन बनाए।

राहुल-धवन ने अच्छी शुरूआत दिलाई

पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम की शुरूआत अच्छी रही। केएल राहुल और शिखर धवन ने पहले विकेट के लिए 63 रन की साझेदारी निभाई। धवन 29 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद विराट कोहली पांच गेंद खेलकर शून्य पर पवेलियन लौटे। उन्हें केशव महाराज ने बावुमा के हाथों कैच कराया। यह वनडे में पहली बार था, जब स्पिनर ने उन्हें आउट किया। विराट का यह वनडे में 14वां शून्य का स्कोर था।

राहुल-पंत के बीच 111 रन की साझेदारी

64 पर दो विकेट गिरने के बाद कप्तान राहुल और पंत ने पारी संभाली। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 111 गेंदों पर 115 रन की साझेदारी निभाई। राहुल 79 गेंदों पर 55 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद ऋषभ पंत भी अपना विकेट फेंक बैठे। तबरेज शम्सी की गेंद पर बड़े शॉट के चक्कर में वह मार्करम को कैच थमा बैठे। पंत ने 71 गेंदों पर 85 रन की पारी खेली। अपनी पारी में उन्होंने 10 चौके और दो छक्के लगाए। श्रेयस अय्यर लगातार दूसरे वनडे में फेल रहे और 11 रन बनाकर पवेलियन लौटे।

पहली बार स्पिनर के खिलाफ शून्य पर आउट हुए कोहली

दूसरे मैच में विराट कोहली बिना खाता खोले ही आउट हो गए। उनका विकेट केशव महाराज के खाते में आया। 50 ओवर फॉर्मेट में पहली बार किसी स्पिन गेंदबाज ने कोहली को शून्य पर आउट किया। साथ ही विराट 2019 के बाद पहली बार वनडे क्रिकेट में (0) पर आउट हुए।

शार्दुल ने आखिर में की बेहतरीन बल्लेबाजी

हार्दिक पांड्या की जगह टीम में आए वेंकटेश अय्यर 33 गेंदों पर 22 रन बना सके। आखिर में शार्दुल ठाकुर और रविचंद्रन अश्विन ने महत्वपूर्ण पारी खेली। दोनों ने सातवें विकेट के लिए नाबाद 48 रन की साझेदारी निभाई। शार्दुल 38 गेंदों पर 40 रन और अश्विन 24 गेंदों पर 25 रन बनाकर नाबाद रहे। दक्षिण अफ्रीका की ओर से शम्सी ने दो विकेट लिए। इसके अलावा मगाला, मार्करम, महाराज और फेहलुकवायो को एक-एक विकेट मिला।

डिकॉक और मलान की शतकीय साझेदारी

288 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीकी टीम की शुरूआत शानदार रही। क्विंटन डिकॉक और यानेमन मलान ने 132 रन की ओपनिंग साझेदारी निभाई। शार्दुल ने इस साझेदारी को तोड़ा। उन्होंने डिकॉक को 78 रन के निजी स्कोर पर एलबीडब्ल्यू किया। डिकॉक ने 66 गेंदों की अपनी पारी में सात चौके और तीन छक्के लगाए। इसके बाद मलान और बावुमा ने दूसरे विकेट के लिए 76 गेंदों पर 80 रन की साझेदारी निभाई। मलान नर्वस 90 में आउट हुए। वे 91 रन बनाकर बुमराह की गेंद पर क्लीन बोल्ड हुए।

भारतीय गेंदबाज फेल रहे

कप्तान बावुमा 36 गेंदों पर 35 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद एडेन मार्करम (37) और रसी वान डर डुसेन (37) ने मिलकर दक्षिण अफ्रीका की टीम को जीत दिलाई। दोनों के बीच चौथे विकेट के लिए 74 रन की नाबाद साझेदारी हुई। भारत की ओर से बुमराह, युजवेंद्र चहल और शार्दुल ठाकुर को एक एक विकेट मिला।

भारत-दक्षिण अफ्रीका के बीच आंकड़े

दोनों टीमों के बीच अब तक कुल 86 वनडे खेले गए हैं। इसमें से दक्षिण अफ्रीका ने 48 मुकाबले जीते हैं। वहीं, भारत को सिर्फ 35 मैच में जीत मिली है। तीन मुकाबलों को कोई नतीजा नहीं निकला। इस सीरीज को मिलाकर दोनों टीमों के बीच कुल 14 वनडे सीरीज खेली गई हैं। इसमें से दक्षिण अफ्रीका ने छह सीरीज जीती हैं। वहीं, आठ सीरीज पर भारत का कब्जा रहा है।

भारत ने दक्षिण अफ्रीका के मैदान पर इस सीरीज को मिलाकर छह वनडे सीरीज खेली हैं। इसमें से चार सीरीज दक्षिण अफ्रीका ने जीते हैं, जबकि भारत का एक सीरीज पर कब्जा रहा। टीम इंडिया ने 2018 में दक्षिण अफ्रीका को 5-1 से हराया था। केएल राहुल की कप्तानी टीम इंडिया की यह लगातार तीसरी हार है। इन दो वनडे से पहले राहुल ने जोहानिसबर्ग में हुए दूसरे टेस्ट में भी कप्तानी की थी और उसमें भी हार का सामना करना पड़ा था। दक्षिण अफ्रीकी दौरे पर यह भारतीय टीम की यह पांच मैचों में लगातार चौथी हार है। पहले टेस्ट में जीतने के बाद टीम इंडिया को अगले चारो में हार ही मिली है।

मैदान पर पंत के ऊपर भड़के केएल राहुल, तालमेल की कमी के चलते एक ही गेंद पर दो बार रन आउट होने से बचे भारतीय कप्तान

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच खेले जा रहे दूसरे वनडे मैच में गजब का वाकया देखने को मिला। विराट कोहली के 0 रन पर आउट होने के बाद ऋषभ पंत बल्लेबाजी करने आए। 14वें ओवर की आखिरी गेंद को पंत ने फ्लिक किया और राहुल रन लेने के लिए दौड़ गए।

पंत ने उनको वापस भेजने का प्रयास किया, लेकिन वो पंत के पास पहुंच गए, लेकिन फील्डर ने तेजी से गेंद को लपका और नॉन स्ट्राइकर पर थ्रो किया। गेंदबाजी कर रहे केशव महाराज गेंद को पकड़ ही नहीं पाए।

टीम के कप्तान तेजी से भागकर नॉन-स्ट्राइक पर पहुंचे।आउट होने से बचने के बाद राहुल पंत पर भड़क गए। अगर महाराज गेंद पकड़कर गिल्लियां बिखेर देते तो राहुल को तुरंत वापस पवेलियन जाना पड़ता। इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।


Share