हॉस्पिटल के बाद अब टाइम पर भी बंदिश नहीं दिन हो या रात… जब मन करे तब लगवाएं टीका

जेड+ जैसी सुरक्षा के बीच यह वैक्सीन दिल्ली पहुंची
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए अब टीकाकरण शुरू होने का इंतजार नहीं करना होगा। सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक ही टीका लगेगा, यह नियम खत्म कर दिया गया है। निजी अस्पतालों में बने टीकाकरण केंद्रों पर अपनी सुविधा के हिसाब से 24 घंटों में से किसी भी वक्त वैक्सीन लगवा सकते हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने यह जानकारी दी। सरकार ने राज्य सरकारों को भी यह छूट दी है कि अगर वे चाहें तो सरकारी अस्पतालों में भी ये सुविधा दे सकती हैं। केंद्र सरकार के अनुसार, राज्यों को 5 करोड़ डोज भेजी जा चुकी हैं।

टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाने के लिए हुआ फैसला

डॉ हर्षवर्धन के मुताबिक, सरकार ने यह फैसला टीकाकरण अभियान की रफ्तार बढ़ाने के लिए किया है। उन्होंने बुधवार को एक ट्वीट में कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के नागरिकों के स्वास्थ्य के साथ-साथ उनके समय की कीमत बखूबी समझते हैं। सरकार ने मंगलवार को निजी अस्पतालों को टीकाकरण केंद्र बनाने से जुड़ी शर्तों में भी ढील दी थी।

सभी निजी अस्पतालों को वैक्सीन देने की छूट

केंद्र सरकार ने सभी प्राइवेट हॉस्पिटल्स में वैक्सीन उपलब्ध कराने की अनुमति दे दी है। पहले यह नियम था कि आयुष्मान भारत, सीजीएचएस या राज्य सरकार की योजनाओं में शामिल निजी अस्पतालों में ही टीकाकरण होगा। अब कहा गया है कि जिन निजी अस्पतालों में तय मानदंडों का पालन किया जा रहा है, उन्हें वैक्सीन उपलब्ध करा दी जाए।

दूसरी डोज रीशेड्यूल करने का भी विकल्प

वैक्सीन का पहला शॉट लगने के बाद अपने आप उसी अस्पताल में दूसरी डोज के लिए बुकिंग हो जाएगी। अगर दूसरी डोज वाली तारीख को व्यक्ति किसी और शहर में है तो वह अपनी बुकिंग को रीशेड्यूल भी कर सकता है। सरकार ने कहा है कि वह इस बात का ध्यान रखेगी कि एक शख्स को दो अलग-अलग डोज में अलग-अलग वैक्सीन न लगे।


Share