मुख्यमंत्री गहलोत के घेराव के बाद स्वास्थ्य मंत्री ने एएएमएस का किया निरीक्षण, बोले, मरीजों को बैड पर मिलेगी मुफ्त दवाईयां

After the gherao of Chief Minister Gehlot, the Health Minister inspected the AAMS, said, patients will get free medicines on the bed
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के घेराव के बाद  स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा ने शुक्रवार को राज्य के सबसे बड़े अस्पताल एसएमएस का दौरा कर पूरे स्टॉफ का क्लास ले ली। स्वास्थ्य मंत्री ने मरीजों को दवाएं और अन्य जरूरी वस्तुएं खरीदकर बैड पर ही उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिए। स्वास्थ्य मंत्री ने मरीजों से मिली शिकायत के बाद दो वार्ड ब्याय को भी गिरफ्तार करवा दिया।  इन पर मरीजों से रूपये वसूली करने के आरोप थे। मंत्री ने सभी अधिकारियों और डॉक्टर्स को निर्देश दिए कि जो दवाइयां डॉक्टर लिखे उसे वार्ड के अंदर मरीज तक पहुंचाने की व्यवस्था करें। सरकार की ओर से 969 से ज्यादा दवाईयां फ्री उपलब्ध करवाई जा रही है।

मरीजों के परिजनों ने सीएम को घेर लिया था

उल्लेखनीय है कि गुरूवार देर रात सीएम अशोक गहलोत एसएमएस अस्पताल गए थे। अस्पताल से जैसे ही सीएम गहलोत बाहर आए तो मरीजों के परिजनों ने उन्हें घेर लिया। अस्पताल की अव्यवस्थाओं के बारे में बताने लगे। लोगों ने आरोप लगाए गए कि वार्ड बॉय और दूसरा नीचला स्टॉफ मरीजों से ट्राली खिंचने के नाम पर पैसा मांगता है। घटना के बाद स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल हरकत में आ गए और सभी की क्लास ले ली। सीएम गहलोत और स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल बिजली कंपनी के एईएन हर्षदापति और करौली की घटना में शामिल हुए अमित शर्मा से कुशलक्षेम जानने एसएमएस अस्पताल पहुंचे थे। जिसके बाद स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा ने प्रमुख शासन सचिव हेल्थ एजुकेशन वैभव गालरिया, एसएमएस अस्पताल के प्रिंसीपल और अस्पताल के अधिकारियों के साथ बैठक की।

चार्टर प्लेन भेजकर बाहर से दवा मंगवाई

चिकित्सा मंत्री ने एसएमएस अस्पताल के ट्रोमा सेंटर की व्यवस्थाओं के प्रति नाराजगी जताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दवाओं की कमी आने पर चार्टर प्लेन भेजकर बाहर से दवा मंगवाई वहीं ट्रॉमा वार्ड में मरीजों को दवा बाहर से लेनी पड़ रही है। उन्होंने लापरवाही बरतने वाले कार्मिकों और चिकित्सकों को तुरंत हटाने एवं सभी व्यवस्थाओं को सुदृढ़ करने के भी निर्देश दिए। इस अवसर पर चिकित्सकों ने वार्डों पर डीडीसी सेंटर बनाने, सभी यूनिटों में दवाओं का स्टॉक रखने जैसे सुझाव भी दिए। उन्होंने मेडिकल चिकित्सा सचिव को सभी व्यवस्थाओं को दुरूस्त करने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने ट्रोमा वार्ड में भर्ती मरीजों से मिलकर कुशलक्षेम भी पूछी।

शेखावत ने गहलोत पर साधा निशाना

सीएम गहलोत को घेरने की घटना पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने निशाना साधा । शेखावत ने ट्वीट कर लिखा- इसलिए गहलोत जी जनता का सामना करने से डरते हैं।

उनके वादे उनकी तरह फेल है। अपनी असफलताओं को केंद्र पर थोपते रहने की कारगुजारियों के बीच  उनकी अपनी  चिरंजीवी योजना की हकीकत एक आम नागरिक की आपबीती के सामने आने के बाद बगल झांकने के अलावा उनके पास कोई चारा नहीं था।


Share