राजस्थान, केरल के बाद महाराष्ट्र ने भी दी राहत, पेट्रोल-डीजल पर वैट में की कटौती

राजस्थान, केरल के बाद महाराष्ट्र ने भी दी राहत, पेट्रोल-डीजल पर वैट में की कटौती
Share

मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। केंद्र सरकार की ओर से शनिवार को पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में कटौती के बाद रविवार को महाराष्ट्र सरकार ने भी राज्य की जनता को दोहरी राहत दी है। केंद्र के फैसले के अगले दिन महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने रविवार को पेट्रोल पर लगने वाले मूल्य-वर्दि्धत कर (वैट) में 2.08 रूपए प्रति लीटर और डीजल पर लगने वाले शुल्क में 1.44 रूपए प्रति लीटर की कटौती कर दी। इससे पहले राजस्थान और केरल की सरकार ने भी वैट में कटौती का फैसला लिया है।

राज्य सरकार की तरफ से जारी एक आधिकारिक बयान में पेट्रोल एवं डीजल पर वैट घटाने की जानकारी दी गई। इसके मुताबिक, इस फैसले से राज्य के खजाने को 2,500 करोड़ रूपए की वार्षिक नुकसान होगा। वैट की कटौती के बाद पेट्रोल की बिक्री से मिलने वाले मासिक राजस्व में 80 करोड़ रूपए तक की गिरावट आएगी जबकि डीजल की बिक्री से प्राप्त होने वाले राजस्व में 125 करोड़ रूपए की कमी आने का अनुमान है।

केंद्र सरकार ने शनिवार को पेट्रोल पर 8 रूपए और डीजल पर 6 रूपए एक्साइज ड्यूटी घटा दिया था।

केंद्र के फैसले के बाद पेट्रोल की कीमत 9.5 रूपए प्रति लीटर और डीजल की कीमत 7 रूपए कम हो गई। ऐसे में राज्यों की ओर से भी अगर वैट में कटौती की जा रही है तो आम जनता के लिए दोहरी राहत से कम नहीं है। इसके साथ ही केंद्र सरकार ने उपभोक्ताओं को अधिक राहत देने के लिए स्थानीय स्तर पर लगने वाले वैट में कटौती करने का भी अनुरोध किया था।


Share