पवार के चमत्कार बयान के बाद अब सुप्रिया ने भाजपा को दी बधाई. राज्यसभा चुनाव के बाद बदल गए  एनसीपी के सुर?

पवार के चमत्कार बयान के बाद अब सुप्रिया ने भाजपा को दी बधाई. राज्यसभा चुनाव के बाद बदल गए एनसीपी के सुर?
Share

मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। महाराष्ट्र में राज्यसभा की 6 सीटों में से 3 पर भारतीय जनता पार्टी  को जीत हासिल हुई है। इस जीत के बाद राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी   प्रमुख शरद पवार ने कहा कि वह नतीजों को देखकर जरा भी आश्चर्यचकित नहीं हैं। वहीं शरद पवार की बेटी और सुप्रिया सुले ने भी भाजपा को बधाई दी और कहा कि हमें अपमानजनक हार स्वीकार करनी चाहिए। अब शरद पवार और सुप्रिया सुले के बयान के सियासी मायने निकाले जा रहे हैं।

महाराष्ट्र में शुक्रवार को हुए राज्यसभा चुनाव में भाजपा उम्मीदवार केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, राज्य के पूर्व मंत्री अनिल बोंडे और पूर्व सांसद धनंजय महाडिक ने जीत दर्ज की। वहीं, शिवसेना के संजय राउत, एनसीपी के प्रफुल्ल पटेल और कांग्रेस के इमरान प्रतापगढ़ी भी राज्यसभा चुनाव में जीत हासिल करने में कामयाब रहे। शिवसेना के दूसरे उम्मीदवार संजय पवार को भाजपा के महाडिक के हाथों हार का सामना करना पड़ा।

‘एनसीपी को मिला अतिरिक्त वोट’

शरद पवार ने कहा,  मैं नतीजे देखकर हैरान नहीं हूं। अगर आप एनसीपी, शिवसेना और कांग्रेस के प्रत्येक उम्मीदवार के पक्ष में पड़े वोटों पर नजर डालेंगे तो पता चलेगा उन्हें कोटे के अनुसार मत मिले। सिर्फ प्रफुल्ल पटेल (एनसीपी प्रत्याशी) को एक अतिरिक्त वोट हासिल हुआ और मुझे पता है कि यह कहां से आया। यह एमवीए का वोट नहीं था, यह विपक्षी खेमे से डाला गया था।

‘एमवीए ने किया पूरा प्रयास’

एनसीपी प्रमुख ने कहा कि छठी सीट जिस पर शिवसेना ने अपना प्रत्याशी उतारा था, उस पर बड़ा अंतर था, लेकिन एमवीए ने हिम्मत दिखाई और भरपूर प्रयास किया। उन्होंने कहा कि भाजपा को ज्यादा निर्दलीय विधायकों का समर्थन हासिल था, लेकिन भाजपा और एमवीए, दोनों के लिए कुल वोट पर्याप्त नहीं थे।

‘देवेंद्र फडणवीस रहे सफल’

शरद पवार ने कहा कि एमवीए ने कुछ वोट कम होने के बावजूद छठी सीट पर जीत हासिल करने के लिए साहसिक प्रयास किया, लेकिन हमें उस चमत्कार को स्वीकार करना होगा, जिसके तहत भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस उन निर्दलीय सदस्यों और छोटे दलों को हमसे दूर करने में सफल रहे, जो एमवीए का समर्थन करते। इसीलिए वोटों का यह अंतर देखने को मिला।

‘आत्मनिरीक्षण की जरूरत’

वहीं सुप्रिया सुले ने कहा,  मैं भाजपा को उनके प्रदर्शन के लिए बधाई देती हूं। हम अपनी हार स्वीकार करते हैं। हमें स्पष्ट रूप से आत्मनिरीक्षण करने की आवश्यकता है कि क्या सही हुआ और क्या गलत हुआ। यदि आप संख्याओं को देखें, तो स्पष्ट रूप से हमारे पास अंत तक सही संख्याएं नहीं थीं। लेकिन हमने एक चांस लिया…

‘कहीं न कहीं था थोड़ा गैप’

सुप्रिया सुले ने कहा,  हम हर एक चुनाव जीत नहीं सकते इसलिए हमें हमारी शर्मनाक हार स्वीकार करनी चाहिए। हमें देखना चाहिए कि क्या सही हो रहा है और क्या गलत है। हमने चांस लिया, हमने अच्छा किया लेकिन कहीं न कहीं थोड़ा गैप था जिसे हमें देखना चाहिए। अगले कुछ दिनों में हम यह साफ करेंगे कि कहां पर कमी रह गई।


Share