हुगली में मोदी की हुंकार के बाद साफ कटमनी, टोलाबाजी और हिंदुत्व रहेगा भाजपा का हथियार

देव दीपावली के मंच से चीन पर गरजे मोदी
Share

कोलकाता (एजेंसी)। पश्चिम बंगाल में भारत माता की जय…, जय श्री राम… के नारे के साथ चुनावी शंखनाद करने वाली भाजपा का मुख्य हथियार हिंदुत्व ही रहेगा। सोमवार को हुगली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हुंकार के बाद इस पर सौ फीसदी मुहर लग गई। दरअसल पश्चिम बंगाल में हिंदुत्व ही वह मुख्य आग्नेय अस्त्र है, जिसके बल पर भाजपा ममता बनर्जी के किले को भेद सकती है। वहीं ममता बनर्जी का ‘जय श्री राम’ के नारों को लेकर गुस्सा करना भी भाजपा की खास रणनीति का हिस्सा रहा है। क्योंकि इससे एक बड़ा वोट बैंक ममता से खिसक रहा है। अप्रैल-मई में पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होना है। ऐसे में भाजपा ने बंगाल मिशन के लिए शुरू से ही अपने एजेंडे के तहत ही काम किया है। अब तक बंगाल आने वाले भाजपा के सभी बड़े नेता राज्य के प्रमुख मंदिरों में माथा टेक चुके हैं। वहीं बंगाल में दुर्गा पूजा को लेकर हुगली में प्र.म. मोदी ने ममता बनर्जी पर निशाना साधा कर रही सही कसर पूरी कर दी।

मोदी ने दुर्गा पूजा को लकर ममता पर साधा निशाना

प्रधानमंत्री ने ममता बनर्जी पर तुष्टीकरण की राजनीति करने का आरोप लगाया। प्र.म. मोदी ने कहा कि यही राजनीति बंगाल के लोगों को दुर्गा पूजा करने से रोकती है। अपनी संस्कृति का अपमान करने वाले को बंगाल के लोग कभी माफ नहीं करेंगे।

‘अब तक की सरकारों ने बंगाल की धरोहर को किया बेहाल’

प्र.म. ने कहा कि बंगाल में भाजपा की सरकार बनने के बाद हर कोई अपनी संस्कृति का गौरव गान कर सकेगा। मोदी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में जितनी भी सरकारें रहीं, उन्होंने इस ऐतिहासिक क्षेत्र को अपने ही हाल में छोड़ दिया और यहां की धरोहर को बेहाल होने दिया। इस अन्याय के पीछे बहुत बड़ी राजनीति है और ये वो राजनीति है जो देशभक्ति के बजाय वोट बैंक, सबका विकास के बजाय तुष्टीकरण को बल देती है।

भाजपा सरकार में बंगाल वासी कर सकेंगे गौरव गान

प्र.म. ने कहा कि तुष्टीकरण की यही राजनीति, बंगाल में लोगों को मां दुर्गा की पूजा से रोकती है, उनके विसर्जन से रोकती है। बंगाल के लोग वोट बैंक की राजनीति के लिए अपनी संस्कृति का अपमान करने वाले ऐसे लोगों को कभी माफ नहीं करेंगे। प्र.म. ने लोगों को भरोसा दिलाया कि अगर बंगाल में भाजपा की सरकार बनेगी तो हर बंगाल वासी अपनी संस्कृति का गौरव गान कर सकेगा। कोई भी उसे डरा या दबा नहीं पाएगा।


Share