प्रशासन शहरों के संग अभियान आज से- बैंड बाजा बजाते हुए 5 लोग पहुंचेंगे मुख्यमंत्री के घर: गहलोत खुद देंगे पट्टा

गहलोत सरकार के प्रमोटी प्रेम से नाखुश हैं र्आइएएस अधिकारी
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार का 2 अक्टूबर गांधी जयंति को सबसे बड़ा अभियान प्रशासन शहरों के संग शुरू होने जा रहा है। इस अभियान के जरिए सरकार ने पूरे राज्य में 10 लाख परिवारों को उनके मकान या जमीन के पट्टे देने का लक्ष्य रखा है। जयपुर में पहले 5 परिवारों को पट्टे देने के लिए विशेष आयोजन किया जाएगा। बैण्ड-बाजे की धुनों पर इन 5 लोगों को जयपुर के 22 गोदाम क्षेत्र से मुख्यमंत्री के निवास तक लेकर जाएंगे, जहां मुख्यमंत्री के हाथ से उन परिवारों को उनके मकानों का पट्टा दिलवाया जाएगा।

सीधे वोटरों से होंगे कनेक्ट

राज्य सरकार ने अभी इस अभियान को 31 मार्च 2022 तक चलाने का समय रखा है। इस अभियान में सालों से अटके पड़े चारदीवारी क्षेत्र, पुरानी बसावट के क्षेत्र में बने मकानों के भी पट्टे रियायती दर पर जारी किए जाएंगे। सूत्रों की माने तो यह अभियान साल 2023 तक चलाया जा सकता है। इस अभियान के जरिए सरकार शहर में रहने वाले वोटरों से सीधे कनेक्ट होगी। क्योंकि अक्सर लोग इन्हीं कामों के लिए नगरीय निकायों, यूआईटी, विकास प्राधिकरण में महीनों चक्कर लगाते है, लेकिन इन कैंप में यह काम 8-10 दिन के अंदर हो जाएगा।

ये काम होंगे अभियान में

  • एग्रीकल्चर लैण्ड पर बिना अप्रूवल करवाए बसाई गई स्कीम के भूखण्डधारियों को पट्टे देना।
  • स्टेट ग्रान्ट एक्ट के तहत पट्टे।
  • कच्ची बस्तियों में बसे मकान, जिनका सर्वे हो चुका है उनको पट्टे देना।
  • 99 साल की लीज वालों को फ्री-होल्ड में बदलकर नया पट्टा देना।
  • पहले जारी पट्टे जिनकी रजिस्ट्री नहीं हुई उन पट्?टों को वापस वैलिड करके उनकी रजिस्ट्री करना।
  • नाम हस्तान्तरण, पुर्नगठन, उप-विभाजन, भू-उपयोग परिवर्तन के बाद पट्टे देना।
  • ये मिलेगी छूट
  • मकानों की बकाया लीज राशि एकमुश्त जमा करवाने पर ब्याज-पेनल्टी में 100 फीसदी छूट।
  • मकानों का बकाया हाउस टैक्स एकमुश्त जमा करवाने पर ब्याज पेनल्टी में 100 फीसदी और मूल राशि में 50 फीसदी की छूट।
  • मकान और दुकानों का बकाया नगरीय विकास कर जमा करवाने पर ब्याज, पेनल्टी में 100 फीसदी की छूट।
  • हाउसिंग बोर्ड, यूआईटी या विकास प्राधिकरण की ओर से आवंटित ईडब्ल्यूएस, एलआईजी, एमआईजी-ए के मकानों की बकाया किश्त या पैसा एकमुश्त जमा करवाने पर ब्याज-पेनल्टी में 100′ की छूट।

Share