राममंदिर आंदोलन में सक्रिय रहे आचार्य धर्मेंद्र का निधन, जयपुर के एसएमएस हॉस्पिटल में ली अंतिम सांस

Acharya Dharmendra, who was active in Ram temple movement, died
Share

जयपुर (कार्यालय)। राम मंदिर आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाने वाले आचार्य स्वामी धर्मेंद्र का आज सुबह 8 बजे जयपुर में निधन हो गया। पिछले 1 महीने से वे एसएमएस हॉस्पिटल में भर्ती थे। वे 80 साल के थे। वे डॉ. स्वाति श्रीवास्तव की यूनिट में भर्ती थे और आंत की बीमारी से ग्रसित थे। आचार्य धर्मेंद्र के दो पुत्र हैं, सोमेंद्र शर्मा और प्रणवेंद्र शर्मा है। सोमेंद्र की पत्नी और आचार्य की बहू अर्चना शर्मा वर्तमान में गहलोत सरकार में समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष हैं।

श्रीराम मंदिर आंदोलन में रहे थे सक्रिय

आचार्य धर्मेंद्र के निधन पर देशभर में हिंदू संगठन से जुड़े लोगों ने दुख जताया है। आचार्य श्रीराम मंदिर आंदोलन में भी रहे थे। विश्व हिंदू परिषद से लंबे समय तक जुड़े रहने के दौरान ये काफी चर्चा में रहे थे। वे राममंदिर मुद्दे पर बड़ी ही बेबाकी से बोलते थे। बाबरी विध्वंस मामले में जब फैसला आने वाला था, तब उन्होंने फैसला आने से पहले कहा था कि मैं आरोपी नंबर वन हूं। सजा से डरना क्या? जो किया सबके सामने किया।


Share