दुष्कर्म का आरोप, एएसआई को पेड़ से बांधकर पीटा

दुष्कर्म का आरोप
Share

चित्तौडग़ढ़ (प्रात:काल संवाददाता)।  जिले के घोसुंडा क्षेत्र में सोमवार को एक पुलिसकर्मी को बांधकर पिटाई करने का वीडियो ग्रामीणों ने वायरल कर दिया। वीडियो वायरल के बाद घटना सामने आने के बाद एएसआई ने ग्रामीणों के खिलाफ मारपीट और राजकार्य में बाधा का मामला दर्ज कराया है वहीं महिला ने दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया है। इधर पुलिस अधीक्षक ने जांच होने तक एएसआई को लाइन हाजिर कर दिया है। जानकारी के अनुसार गाडरियावास के एक व्यक्ति की भैंस की बछड़ी चोरी हो गई थी, जिसको लेकर घोसुंडा चौकी पर मामला दर्ज कराया गया। चाचा ने अपने ही भाई पर इसका संदेह जाहिर किया था। इस मामले की जांच सहायक उप निरीक्षक श्यामलाल शर्मा को सौंपी गई।

आरोपी की पत्नी ने आरोप लगाया कि पुलिस अधिकारी उसके घर पहुंचा तथा उसके साथ अश्लील हरकत करने लग गया। इस पर परिजनों व ग्रामीणों ने एएसआई श्यामलाल को पेड़ से बांधकर पिटाई शुरू कर दी। सूचना पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हिम्मत सिंह देवल, उपाधीक्षक कमल जांगिड़, थानाधिकारी अनिल जोशी मय जाप्ता मौके पर पहुंचा और समझाईश कर एएसआई को ग्रामीणों से छुड़ाकर थाने लाया गया।  पुलिस छेड़छाड़ के आरोप के बाद बंधक बनाने के मामले में पीडि़ता अपने रिश्तेदार के साथ पुलिस थाने पहुंची है। मौके की नजाकत देखते हुए चंदेरिया पुलिस थाने पर जाब्ता तैनात कर दिया गया।

पुलिस लाइन से अतिरिक्त जाब्ता तैनात किया गया। इस संबंध में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हिम्मत सिंह देवल ने बताया कि एएसआई ने ग्रामीणों के खिलाफ बंधक बनानकर मारपीट और राजकार्य में बाधा का मामला दर्ज कराया वहीं महिला ने एएसआई के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया है। मामले में पुलिस अधीक्षक ने एएसआई को जांच पूरी होने तक लाइन हाजिर कर दिया है।

जांच उपाधीक्षक सहाना खानम को सौंपी गई है। भैंस चोरी के मामले में एएसआई को एक गांव में जाने की जानकारी मिली है। एएसआई से जो बातचीत हुई है, उसके अनुसार महिला ने ही फोन करके बुलाया था।  मामला दर्ज कर नियमानुसार जांच होगी। इधर, एएसआई श्यामलाल का कहना है कि उन पर जो आरोप लगे हैं, वह गलत है। उनकी ओर से ऐसी कोई हरकत नहीं की गई है।


Share