भड़काऊ भाषण देने का आरोप – मनसे चीफ राज ठाकरे के खिलाफ केस दर्ज

राज ठाकरे का ऐलान
Share

मुंबई (कार्यालय संवाददाता)।  महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे के खिलाफ औरंगाबाद में एक केस दर्ज किया गया है। यहां 1 मई को उन्होंने भाषण दिया था। राज ठाकरे पर विवादित भाषण देने का आरोप है। औरंगाबाद में जिस रैली में उन्होंने भाषण दिया था उसके आयोजकों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है। वहीं महाराष्ट्र के डीजीपी रजनीश सेठ ने भी कहा था कि औरंगाबाद के पुलिस आयुक्त राज ठाकरे के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।

सेठ ने मंगलवार को कहा कि औरंगाबाद के पुलिस आयुक्त कथित विवादित भाषण को लेकर मनसे प्रमुख राज ठाकरे के खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई करेंगे।

उन्होंने बताया कि 13,000 से अधिक लोगों के खिलाफ दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 149 (संज्ञेय अपराधों को रोकना) के तहत नोटिस जारी किए गए हैं।

सेठ ने पत्रकारों से कहा, औरंगाबाद के पुलिस आयुक्त भाषण की जांच कर रहे हैं। वह आवश्यक कानूनी कार्रवाई करेंगे। गौरतलब है कि राज्य के मराठवाड़ा क्षेत्र के औरंगाबाद में एक रैली में राज ठाकरे ने कहा था कि वह मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने के लिए 3 मई की समयसीमा पर अडिग हैं और अगर ऐसा नहीं किया गया तो सभी हिंदुओं को इन धार्मिक स्थलों के बाहर हनुमान चालीसा बजानी चाहिए।

इससे पहले, सेठ ने मंगलवार को राज्य के गृह मंत्री दिलीप वाल्से पाटिल से मुलाकात की और दोनों ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ कानून-व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की। सेठ ने कहा, महाराष्ट्र पुलिस कानून-व्यवस्था से जुड़ी किसी भी स्थिति से निपटने में सक्षम है। राज्य में राज्य रिजर्व पुलिस बल और होमगार्ड के जवान तैनात किए गए हैं।

उन्होंने कहा, मैं सभी से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं। सेठ के मुताबिक, पुलिस राज्य में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए तैयार है और सांप्रदायिक सौहार्द बिगाडऩे की कोशिश करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि पुलिसकर्मियों की छुट्टियां भी रद्द कर दी गई हैं।


Share