सर्जरी से कुछ दिन पहले ही प्रणब ने गांव से कटहल मंगाए थे

सर्जरी से कुछ दिन पहले ही प्रणब ने गांव से कटहल मंगाए थे
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत नाजुक बनी हुई है। वेंटिलेंटर पर जाने से कुछ दिन पहले ही पूर्व राष्ट्रपति ने अपने बेटे अभिजीत मुखर्जी को कॉल किया था और उनके एक अनुरोध किया था। प्रणब मुखर्जी को गांव की याद आ रही थी इसलिए उन्होंने अपने बेटे से कहा कि ‘कटहल नीये आयेÓ ( मुझे कटहल लाकर दो)। बता दें कि अभिजीत कांग्रेस नेता हैं और पश्चिम बंगाल में रहते हैं।

नई दिल्ली के ग्रेटर कैलाश स्थित अपने आवास से अभिजीत (60) ने बताया, मैं कटहल लाने के लिए कोलकाता से बीरभूम स्थित हमारे गांव मिराती गया। 25 किलो का एक पका हुआ फल लिया। मैंने 3 अगस्त को दिल्ली के लिए ट्रेन पकड़ी और उनसे मिला… बाबा और मैं दोनों को ट्रेन यात्रा बेहद पसंद है।

‘कटहल खाकर वह बहुत खुश थे

पिता के साथ बिताए पलों को याद करते हुए अभिजीत बताते हैं, उन्होंने उस दिन थोड़ा कटहल खाया। शुक्र है कि उनकी शुगर नहीं बढ़ी थी। वह बहुत खुश थे… तब वह बीमार नहीं थे। लेकिन एक हफ्ते बाद ही वह अचानक बीमार पड़ गए। पूर्व राष्ट्रपति के मस्तिष्क से ब्लड क्लॉट हटाने के लिए सर्जरी की गई और उसके पहले उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी।

प्राकृतिक रूप से सांस ले रहे हैं प्रणब

अभिजीत ने बताया, जब से वह रक्षामंत्री बने थे, उनका मेडिकल रेकॉर्ड आर्मी डॉक्टर मेनटेन रखते थे। इसी वजह से हम उन्हें दिल्ली कैंट स्थित आर्मी रिसर्च ऐंड रेफरल अस्पताल लेकर गए थे। तबसे मैं उन्हें पीपीई और सुरक्षा उपायों के साथ चार बार ही देख पाया हूं। जब मैंने उन्हें आखिरी बार देखा वह प्राकृतिक रूप से सांस ले रहे थे।

‘डिनो, टायसन और जैकी के बारे में पूछा करते हैं

मुखर्जी (84) की स्थिति में कोई बदलाव नहीं हुआ, वह गहरी अचेतन अवस्था में है। अभिजीत ने बताया, वह हमेशा डिनो, टायसन और जैकी के बारे में पूछते थे। ये तीनों अभिजीत के घर के कुत्तों के नाम हैं जिन्हें उनकी बेटी सुचिस्मिता ने बचाया था।


Share