98 साल के दिलीप कुमार का निधन- मुंबई के जुहू कब्रिस्तान में राजकीय सम्मान से दी गई: अंतिम विदाई

दिलीप कुमार
Share

मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार उर्फ युसूफ खां का बुधवार को 98 साल की उम्र में निधन हो गया। बुधवार सुबह करीब 7:30 बजे उन्होंने मुंबई के हिंदुजा हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली। दिवंगत अभिनेता दिलीप कुमार की पार्थिव देह मुंबई के जुहू कब्रिस्तान में राजकीय सम्मान के साथ सुपुर्द ए-खाक किया गया।

इससे पहले दिलीप कुमार की पार्थिव देह तिरंगे में लपेटकर उनका जनाजा निकाला गया। मुंबई पुलिस के जवानों ने फायर कर दिलीप कुमार को आखिरी सलामी दी। दिलीप साहब की पत्नी सायरा बानो ने भी कब्रिस्तान पहुंचकर उन्हें आखिरी सलाम किया।

सीएम उद्धव समेत कई हस्तिया घर पहुंची

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया के जरिए कहा है कि दिलीप कुमार जी सिनेमा लेजेंड के तौर पर हमेशा याद रहेंगे। उनका जाना हमारी सांस्कृतिक दुनिया के लिए नुकसान है। प्रधानमंत्री ने दिलीप कुमार की पत्नी सायरा बानो से भी फोन पर बात करके शोक संवेदना व्यक्त की है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी दिलीप कुमार के निधन पर शोक जताया।

इनके अलावा दिलीप कुमार को श्रद्धांजलि देने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, एनसीपी प्रमुख शरद पवार और शाहरूख खान, दिलीप साहब को श्रद्धांजलि देने उनके घर पहुंचे थे।

करीब 60 फिल्मों में काम किया

दिलीप कुमार ने पांच दशक के करियर में करीब 60 फिल्मों में काम किया था। उनके बारे में एक बात और कही जाती है कि उन्होंने अपने करियर में कई फिल्मों को ठुकरा दिया था, क्योंकि उनका मानना था कि फिल्में कम हों, लेकिन बेहतर हों। कई लोग बताते हैं कि उन्हें इस बात का मलाल रहा था कि वे ‘प्यासा और ‘दीवार’ में काम नहीं कर पाए। उनकी कुछ हिट फिल्मों में ज्वार भाटा (1944), अंदाज (1949), आन (1952), देवदास (1955), आजाद (1955), मुगल-ए-आजम (1960), गंगा जमुना (1961), क्रान्ति (1981), कर्मा (1986) और सौदागर (1991) शामिल हैं।


Share